पछुआ हवाओं से तापमान गिरा, ठिठूरन के साथ स्कूली बच्चों की बढ़ी परेशान...

मौसम में हो रहे बदलाव से बुखार, सर्दी, जुखाम के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। ठंक से बचने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में अलाव जलाए जा रहे हैं। जबकि निगम की ओर से शहर या उपनगरीय क्षेत्रों में अभी तक अलाव नहीं जलाए गए हैं।

कोरबा. पछुआ हवाओं के चलने से तापमान में गिर गया है। रात का न्यूनतम तापमान 9 डिग्री तक पहुंच गया है। इससे ठिठूरन बढ़ गई है। बुधवार को दिनभर पछुआ हवाएं चलती रही। शाम होते तक तापमान में काफी गिरावट गई। शाम लगभग सात बजे शहर का तापमान 19 डिग्री दर्ज किया गया। रात में न्यूनतम तापमान नौ डिग्री तक पहुंचने का अनुमान मौसम विभाग लगाई है। तापमान में गिरावट का सबसे अधिक असर स्कूली बच्चों और बुजुर्गों पर पडऩे की आशंका है। चिकित्सकों के अनुसार छोटे बच्चों को पूरी तरह से ढंककर ही बाहर निकालें। पैर और कान को ढंककर रखे। हवा बिल्कुल ना लगने दे। पानी भी उबालकर पीएं। मौसम में हो रहे बदलाव से बुखार, सर्दी, जुखाम के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। ठंक से बचने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में अलाव जलाए जा रहे हैं। जबकि निगम की ओर से शहर या उपनगरीय क्षेत्रों में अभी तक अलाव नहीं जलाए गए हैं।

लोकेशन ट्रेस करते हुए पीछा करती रही टीम, उधर आगे चल रहे हाथी ने महिला को कुचल मार डाला...
स्कूलों की टाइमिंग में बदलाव नहीं
तापमान में गिरावट से ठंड बढ़ गई है। सबसे अधिक परेशानी सुबह स्कूल जाने वाले छात्र छात्राओं को रही है। इसके बाद भी शिक्षा विभाग स्कूल टाइमिंग में बदलाव नहीं कर रहा है। ठंड का मौसम होने से मॉनिंग चलने वाली स्कूलों की टाइमिंग मेें बदलाव की जरुरत स्कूली बच्चे और अभिभावक महसूस रह रहे हैं। हलांकि सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त कुछ स्कूलों ने टाइमिंग में बदलाव किया है। जबकि छत्तीसगढ़ बोर्ड से संबद्ध विद्यालयों की टाइमिंग में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

Vasudev Yadav
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned