प्राइवेट कंपनी ने जंगल में 8 किमी खोद लिया था गड्ढा, खबर छपी तो जेसीबी लेकर फरार, अब कार्रवाई करने पहुंचा वन विभाग

Forest department: सोनहत जंगल में बिना अनुमति केबल बिछाने गड्ढा खोदने का मामला, प्राइवेट कंपनी (Private company) द्वारा बिछाया गया भागवतपुर के पास जंगल से 650 मीटर केबल बरामद, ठेकेदार से 62 हजार जुर्माना (Fine) वसूला जाएगा।

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 06 Apr 2021, 08:06 PM IST

बैकुंठपुर. कोरिया जिले के वनपरिक्षेत्र सोनहत की टीम जंगल से प्राइवेट कंपनी के भागने के बाद दूसरे दिन कार्रवाई करने पहुंची। इस दौरान करीब 650 मीटर केबल बरामद कर वन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। मामले में ठेकेदार मंगलेश्वर उर्फ बंटी पिता अजय सिंह बक्सर बिहार निवासी के खिलाफ 62 हजार जुर्माना काटा गया है।


कोरिया वनमण्डल (Koria forest) बैकुंठपुर के अंतर्गत सोनहत वनपरिक्षेत्र में मॉनीटरिंग व गश्त नहीं होने के कारण एक प्राइवेट कंपनी सोनहत से जोगिया के बीच केबल बिछाने पिछले सप्ताहभर से जंगल (Forest) में खुदाई कर रही थी।

बकायदा तीन बड़ी-बड़ी जेसीबी मशीनें, पिकअप व टै्रक्टर लेकर जोगिया से भगवतपुर के बीच जंगल में करीब 8 किलोमीटर खुदाई कर चुकी थी। सोनहत से जोगिया तक केबल बिछाने करीब 17 किलोमीटर तक सड़क किनारे व जंगल के बीच खुदाई करने की तैयारी थी।

मामले में पत्रिका अखबर ने 5 अप्रैल के अंक में 'प्राइवेट कंपनी तीन जेसीबी लेकर जंगल में घुसी, केबल बिछाने 8 किलोमीटर खोद डाली सड़क' शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। खबर प्रकाशित होने के बाद प्राइवेट कंपनी तीन जेसीबी मशीन-उपकरण, पिकअप, केबल लाइन समेटकर भाग निकली।

प्राइवेट कंपनी ने जंगल में 8 किमी खोद लिया था गड्ढा, खबर छपी तो  जेसीबी लेकर फरार, अब कार्रवाई करने पहुंचा वन विभाग

वहीं वनपरिक्षेत्र सोनहत की टीम प्राइवेट कंपनी के स्टाफ, ठेकेदार के भागने के बाद मंगलवार को अवैध गड्ढे खोदकर केबल बिछाने के मामले में कार्रवाई करने पहुंची। जबकि जंगल में अवैध खुदाई की प्रभारी रेंजर को जानकारी मिल चुकी थी। सोनहत फॉरेस्ट टीम ने जंगल पहुंचकर करीब 650 मीटर केबल बरामद किया है। मामले में वन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी।


24 घंटे चल रही थी खुदाई
गौरतलब है कि फॉरेस्ट एरिया में बिना अनुमति अवैध तरीके से प्राइवेट कंपनी के स्टाफ दिन-रात 24 घंटे खुदाई कर रहे थे। वहीं रात में जंगल के बीच रौशनी करने व जंगली जानवरों से बचने के लिए झाडिय़ों में आग लगा देते थे। इससे आग धीरे-धीरे जंगल के अन्य हिस्से में फैलने लगी थी। हालांकि बीट गार्ड व फायर वाचर अगले दिन भ्रमण कर समय रहते आग को बुझा देते थे।


कंपनी के स्टाफ-ठेकेदार जंगल से भागकर गांव में ठहरे हैं
जानकारी के अनुसार एक सप्ताह तक जंगल में केबल बिछाने अवैध गड्ढे खोदने के बाद कंपनी के स्टाफ व ठेकेदार भाग गए हैं। वहीं सोनहत ब्लॉक के किसी गांव में ठहरे हुए हैं। जिससे ऐसा अनुमान लगाया गया है कि आधी रात को चोरी-छिपे वर्कर लगाकर केबल बिछाया जाएगा।

क्योंकि सोनहत फॉरेस्ट टीम सिर्फ केबल जब्त कर खानापूर्ति कर ली है और गड्ढे को मिट्टी डालकर समतल नहीं कराई है। सोशल मीडिया में एक फोटो वायरल होने लगा है। इसमें एक घर के पीछे तीन जेसीबी मशीन खड़ी है। जिसे जंगल में गड्ढे खोदने वाली जेसीबी मशीनें होने का दावा किया गया है।


ठेकेदार पर 62 हजार का लगाया गया है जुर्माना
सोनहत वन परिक्षेत्र के जंगल में केबल बिछाने अवैध तरीके से गड्ढे खोदे गए थे। कुछ एरिया में केबल बिछाया गया था। मामले में वन अमले ने 650 मीटर केबल को जब्त कर लिया गया है। वहीं मंगलेश्वर उर्फ बंटी पिता अजय सिंह बक्सर बिहार निवासी के खिलाफ 62 हजार जुर्माना काटा गया है।
शिवानंद मिश्रा, प्रभारी रेंजर सोनहत

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned