रात में घूम रहा था निर्वस्त्र, सभी ने समझा उसी गिरोह का है सदस्य, फिर हाथ बांधकर किया ये हाल

रात में घूम रहा था निर्वस्त्र, सभी ने समझा उसी गिरोह का है सदस्य, फिर हाथ बांधकर किया ये हाल

rampravesh vishwakarma | Publish: Jun, 14 2018 07:39:20 PM (IST) Koriya, Chhattisgarh, India

2 दिन पूर्व मेमू ट्रेन के सामने कूद गया था जान देने, लोगों ने बचा लिया था, सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायल को अस्पताल कराया भर्ती

बैकुंठपुर. कोरिया जिले में बच्चा चोर व किडनी निकालने वाले गिरोह के क्षेत्र में घूमने की अफवाह 15-20 दिनों से उड़ रही थी। इसी बीच चरचा थानांतर्गत ग्राम जगतपुर में रात में ग्रामीणों ने एक व्यक्ति को निर्वस्त्र घूमते देखा। ग्रामीणों ने सोचा कि वह भी गिरोह का ही सदस्य है।

इसके बाद उन्होंने उसे पकड़ लिया और पीछे हाथ बांधकर उसकी जमकर पिटाई कर दी। ग्रामीण उसे अधमरा कर खेत में फेंक कर चले गए। सूचना पर जब पुलिस पहुंची तो पता चला कि वह विक्षिप्त है। फिर उसे गंभीर स्थिति में इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।


कोरिया जिले के चरचा थाना अंतर्गत ग्राम जगतपुर के बहेरापारा में ग्रामीणों ने एक अनजान व्यक्ति को निर्वस्त्र होकर भटकते देखकर चोर गिरोह का सदस्य समझ लिया और हाथ व पैर बांधकर जमकर पिटाई कर दी। वहीं अधमरा समझकर उसे खेत में फेंक दिया गया था। मामले की जानकारी मिलने पर चरचा पुलिस मौके पर पहुंची और विक्षित को जिला चिकित्सालय भर्ती कराया।

अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि विक्षिप्त को बेहतर उपचार कराने मानसिक चिकित्सालय सेंदरी बिलासपुर भेजने की तैयारी की जा रही है। गौरतलब है कि चिरमिरी में कुछ दिन पहले बच्चा व किडनी निकालने वाले गिरोह के आने की अफवाह उड़ी थी।

मामले में पुलिस न ग्रामीण व स्थानीय नागरिकों को जागरूक करने गांव-गांव मुनादी कराई थी और किसी प्रकार के अफवाह से दूर रहने व ऐसे मैसेज नहीं भेजने की सलाह दी गई थी।


मेमू के सामने कूद गया था विक्षित
स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि विक्षिप्त व्यक्ति एक दिन पहले दर्रीटोला रेलवे स्टेशन में अपने कपड़े उतार कर मेमू ट्रेन के सामने कूद गया था। इसके बाद लोगों ने उसे बचाकर वहां से उसे भगा दिया था। इसके बाद घूमते-घूमते वह ग्राम जगतपुर के बहेरापारा में पहुंच गया था। इधर ग्रामीणों ने अनजाने में उसकी पिटाई कर दी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned