राजस्थान में बादल मेहरबान, कोटा में तीन नदियां उफनीं, कई गांव-कस्बों का एक-दूसरे से सम्पर्क टूटा

राजस्थान में बादल मेहरबान, कोटा में तीन नदियां उफनीं, कई गांव-कस्बों का एक-दूसरे से सम्पर्क टूटा

santosh trivedi | Publish: Jul, 14 2018 10:02:22 AM (IST) Kota, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

कोटा। हाड़ौती में शुक्रवार को भी मानसून सक्रिय रहा। उधर मध्यप्रदेश सीमा में हुई बारिश से झालावाड़, बारां जिले से गुजर रही नदियों में उफान आ गया। कई गांव-कस्बों का एक-दूसरे से सम्पर्क टूट गया।

 

कोटा शहर में शाम 5.30 बजे तक बीते 24 घंटे में 8.4 एमएम बारिश हुई। जिले की उजाड़ नदी उफन गई। इससे आधा दर्जन गांवों का सम्पर्क टूट गया। पार्वती नदी में आए उफान से छबड़ा-गुगोर-फतेहगढ़ मार्ग बंद हो गया।

 

झालावाड़ में 3 दिन से अच्छी बारिश हो रही है। खानपुर की रूपली नदी दूसरे दिन भी उफान पर रही। चूरू में रुक-रुककर बारिश का दौर जारी है। तारानगर के राउमावि की दीवार तोडक़र बरसाती पानी घुस गया। यहां कमरों व मैदान में पानी भर गया। गुरुवार शाम से शुक्रवार दोपहर बाद तक 122.0 मिमी दर्ज की गई।

 

नागौर जिले में लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी झमाझम बारिश हुई। शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विभिन्न इलाकों में पानी भरा रहा। नागौर शहर बारिश के दौरान बिजली के करंट से एक गाए की मौत हो गई। जोधपुर के बिलाड़ा में 76 मिलीमीटर पानी बरसा। पाली के सोजत में चार इंच व कई बांधों में झमाझम बारिश हुई।

 

पाली जिले में अब मानसून सक्रिय हो गया है। गुरुवार देर रात तीन बजे बाद करीब एक घंटे तक शहर में तेज बारिश हुई। पाली में 52, रानी में 192 एमएम बारिश हुई। जबकि, सरदारसमंद बांध पर 85 एमएम बारिश दर्ज की गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned