कोटा में 35 हजार बेटियों ने बेटी बचाने की शपथ ले बनाया रिकार्ड, होगी गिनिज बुक में दर्ज

abhishek jain | Updated: 25 Jan 2018, 05:47:56 PM (IST) Kota, Rajasthan, India

राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बुधवार को प्रदेशभर के शिक्षण व चिकित्सा संस्थानों में एक दिन, एक साथ, एक समय करीब 10 लाख से अधिक युवाओं ने शपथ ली।

कोटा .

'बेटियां अनमोल हैं, उन्हें हमें बचाना है' इस थीम पर चिकित्सा विभाग की ओर से राष्ट्रीय बालिका दिवस पर बुधवार को प्रदेशभर के शिक्षण व चिकित्सा संस्थानों में एक दिन, एक साथ, एक समय करीब 10 लाख से अधिक युवाओं ने शपथ ली। बेटी बचाने के संकल्प के साथ युवाओं ने राष्ट्रगान भी गाया। चिकित्सा विभाग इन दोनों ही गतिविधियों को गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराएगा। कोटा जिले में 228 शिक्षण व चिकित्सा संस्थानों में 35 हजार युवाओं ने एक साथ बेटी बचाने का संदेश दिया।

डॉक्टर बनेंगे, नहीं होने देंगे भ्रूण हत्या
मुख्य कार्यक्रम कुन्हाड़ी स्थित लैंडमार्क सिटी के सम्यक कैम्पस में आयेाजित हुआ। यहां दो सत्रों में हुए कार्यक्रम में करीब चार हजार मेडिकल कोचिंग कर रही छात्राओं ने कहा कि 'हम डॉक्टर बनेंगे और नहीं होने देंगे भू्रण हत्या।' इस अवसर पर सांसद ओम बिरला, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन निदेशक नवीन जैन, जिला कलक्टर रोहित गुप्ता, सीएमएचओ डॉ. आर.के. लवानिया, एलन के निदेशक नवीन माहेश्वरी, जीएमए के अध्यक्ष राकेश जैन उपस्थित रहे।

 

Read More: Breaking News: पद्मावत बवाल: कोटा में करणी सेना ने किया उग्र प्रदर्शन, फूंके टायर

गौरव हैं बेटियां
सांसद ने कहा कि बेटियां हमारा गौरव हैं। बेटी पर एक नहीं बल्कि दो परिवार निर्भर होते हैं। मेरा प्रयास है कि मेरे लोकसभा क्षेत्र में 2022 तक कोई बेटी, महिला, बालिका शिक्षा से वंचित नहीं रहे। इसके लिए गांव-गांव पाठशालाएं शुरू करने के लिए प्रयासरत हूं। उन्होंने छात्राओं से कहा कि आप संकल्प लें कि डॉक्टर बनेंगी और कभी कन्या भ्रूण हत्या नहीं होने देंगी। आज शिक्षा के साथ जागरूकता आ रही है और अब इस तरह के पाप करने वालों को पकड़ा जा रहा है।

मशाल बुझने नहीं देंगे
मिशन निदेशक ने कहा कि डॉटर्स आर प्रीसियस की यह मशाल लाखों युवाओं के बीच पहुंची है। बेटियों को बचाने और भ्रूण ***** जांच और कन्या भ्रूण हत्या के विरुद्ध तैयार यह मशाल हल्की नहीं पडऩे दी जाएगी। कोचिंग विद्यार्थियों के बीच इसलिए आए हैं, क्योंकि कोटा में देश के हर क्षेत्र से विद्यार्थी आकर कोचिंग कर रहे हैं। यहां से विद्यार्थी सीधे मेडिकल व इंजीनियरिंग कॉलेजों में जाते हैं। कोटा अब तक हजारों विद्यार्थियों के लिए सफ लता का मार्ग प्रशस्त कर चुका है। यदि हम कोचिंग विद्यार्थियों के बीच बात करते हैं तो यह पूरे देश से बात करना होगा। हम चाहते हैं यहां पढऩे वाली हर छात्रा इस संबंध में जागरूक हो और कन्या भू्रण हत्या नहीं होने दें।

 

Read More: Video: नियमों का उल्लंघन कर कोटा आबकारी विभाग ने आंखे मूंद शराब की दुकान खोलने की दी हरी झण्ड़ी

दी जानकारी
जैन ने प्रजेंटेशन के जरिए Gender परीक्षण के विरोध में सरकार की ओर से की गई कार्रवाइयों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि राजस्थान इस क्षेत्र में बहुत तेजी से कार्य कर रहा है। उन्होंने प्रदेश के अलावा गुजरात, मध्यप्रदेश, हरियाणा, उत्तरप्रदेश समेत कई प्रदेशों में की गई कार्रवाहियों के बारे में बताया। छात्राओं को प्रजेंटेशन के जरिए कन्या भू्रण हत्या के लिए अपनाए जाने वाले तरीकों के बारे में बताया तो छात्राएं भावुक हो गई। इसके साथ ही राजस्थान में आई जागरूकता के बाद इसमें कमी आने के बारे में भी बताया।
प्रोत्साहित करें
जेसीआई इलिगेंस की अध्यक्ष तृप्ती नागर, संयुक्त सचिव चंचल नागर व निशी नागर ने सर्वोदय स्कूल, दासवानी डेंटल कॉलेज व गुरुकुल कॉलेज में बेटी बचाओ का संदेश दिया। अध्यक्ष ने बताया कि हमें कन्या जन्म को प्रोत्साहित करना चाहिए।
कम नहीं बेटियां
राबाउमावि गुमानपुरा में छात्राओं ने नाटक के जरिए बेटी बचाओ का संदेश दिया। बताया कि बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से कम नहीं हैं। चिकित्सा विभाग के कर्मचारियों ने छात्राओं को बेटी बचाओ की शपथ दिलाई। एडीईओ नरेन्द्र गहलोत ने बेटियों के चल रही योजनाओं की जानकारी दी।
दिलाया संकल्प
वल्लभनगर राबाउमावि में डॉ. निधि सक्सेना ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। कन्या भ्रूण हत्या रोकने में भागीदार बनने के लिए छात्राओं को संकल्प दिलाया। प्रधानाचार्य डॉ. रचना चतुर्वेदी ने सशक्त बनने के लिए प्रेरित किया।

 

Read More: एक दिन में दो लाशें देख सन्न रह गया कोटा

गाया बेटी चालीसा
कोटा जंक्शन स्थित तारे सीनियर सैकण्डरी स्कूल में ब्रांड एम्बेसेडर आस्था सक्सेना ने संगीत गुरु संगीता सक्सेना, स्मिता कश्यप के साथ रामू भैया द्वारा रचित बेटी चालीसा का गायन किया। वहीं कॉलेजों में छात्राओं को बेटी बचाओ की शपथ दिलाई।

कार्याशाला आयोजित
रंगबाड़ी स्थित उच्च माध्यमिक विद्यालय में जेसीआई कोटा स्टार की ओर से उम्र अनुसार शारीरिक परिवर्तन पर कार्यशाला हुई। इसमें नेशनल ट्रेनर सोनल गुप्ता ने बालिकाओं उम्र के अनुसार होने वाले शारीरिक परिवर्तन की जानकारी दी। उन्होंने बदलावों के दौरान रखने वाली सावधानियों के बारे में भी बताया। क्लब की चेयरपर्सन मोनिका जैन, सचिव किरण गोयल, पूर्व चेयरपर्सन सुनीता गोयल, स्वाति जैन, सन्जू जैन, मेघा अग्रवाल आदि उपस्थित रहीं।
समाज में बनानी होगी पहचान
जेसीआई कोटा सुरभि की ओर से बुधवार को न्यूक्लियस कोचिंग संस्थान में अध्यक्ष मीनल वासल ने कन्या भू्रण हत्या रोकने, महिला सशक्तीकरण व बेटी बचाओ का संदेश दिया। सेनिटर प्रज्ञा मेहता ने निजी स्कूल में बच्चों को समाज में भागीदारी व पहचान बनाकर निर्भीक उन्नति करने की प्रेरणा दी। कोषाध्यक्ष विनिता वाष्र्णेय ने महर्षि अरविन्द पब्लिक स्कूल में जागरूकता कार्यक्रम किया।

Girl Saved

बेटी ने जीती जिंदगी की जंग
बालिका दिवस पर कई कार्यक्रम आयोजित किए गए, इनमें बेटी बचाओ-बेटी पढाओ का संदेश दिया गया। दूसरी ओर लाडपुरा तहसील के चारणहेड़ी निवासी तनीषा ने जिंदगी की जंग जीत ली। आरबीएसके कोर्डिनेटर साइकोलॉजिस्ट पूर्ति शर्मा ने बताया कि तनिषा बचपन से ही हृदय की जन्मजात विकृति से पीडि़त थी। सरकार की आरबीएसके योजना के तहत मोबाइल हैल्थ टीम की ओर से स्वास्थ्य परीक्षण कर जिला स्तर पर उसे रैफर किया गया, जहां से डॉक्टर की ओर से तनीषा को जयपुर रैफर किया गया। जयपुर स्थित निजी पेनलित चिकित्सालय में तनिषा का सफल ऑपरेशन किया गया। योजना के तहत अब तक 43 बच्चों का नि:शुल्क उपचार किया गया है।

बेटियों के साथ अस्पताल पहुंचे चिकित्सक
सेवारत चिकित्सक व कर्मचारी बुधवार को अपनी बेटियों के साथ चिकित्सालय पहुंचे। उन्होंने दूसरों के दर्द से बेटियों को अवगत कराया, वहीं अस्पताल की कार्यप्रणाली और मरीजों के इलाज की उन्हें जानकारियां दी। सेवारत चिकित्सा संघ के जिला महामंत्री डॉ. राजेश सामर ने बताया कि उनकी बेटियां हमेशा से ही उनके कार्य के प्रति कई तरह के सवाल किया करती थी, इसके चलते यह निर्णय किया गया कि जिस भी चिकित्सक या स्टाफ के बेटियां हैं उन्हें राष्ट्रीय बालिका दिवस पर एक साथ चिकित्सालय की कार्यप्रणाली से अवगत कराया जाएगा। जिले में करीब 50 से अधिक चिकित्सक बुधवार को अपनी बेटियों के साथ अस्पताल पहुंचे। प्रदेश महासचिव डॉ. दुर्गाशंकर सैनी ने बताया कि 'बेटी बचाओ, बेटी पढाओ' के साथ देश के संविधान से भी उन्हें अवगत कराया गया है।

 

Read More: CBSE: नेट जेआरएफ परीक्षा में किया बड़ा बदलाव, साथ ही जानिए महत्वपूर्ण तारीखें व जानकारियां...

 

बेटियां हैं अनमोल
डॉटर्स आर प्रिशियस के तहत महावीर नगर प्रथम स्थित आदर्श राउमावि में जागरूकता कार्यक्रम हुआ। कार्यक्रम प्रभारी शिक्षिका सुनीता तिवारी ने कहा कि बेटियां अनमोल हैं। जागरूकता अभियान कार्यक्रम के तहत प्रोजेक्टर के माध्यम से विद्यार्थियों को बेटी बचाओ की शपथ दिलाई गई। कार्यक्रम में प्रधानाचार्य संगीता जोशी, व्याख्याता वृंदा दाधीच सहित स्टाफ व अन्य शामिल थे।

कविता पाठ व गायन किया
इनरव्हील क्लब कोटा नार्थ की ओर से कविता पाठ, देशभक्ति गायन व नृत्य प्रतियोगिता आयोजित की गई। अध्यक्ष मधु ललित बाहेती ने बताया कि बच्चों ने देशभक्ति गीत प्रस्तुत किए। जेसीआई कोटा डायमेनिक ने भी बालिका दिवस मनाया। इस अवसर पर संस्था के निदेशक पीयूष सक्सेना, सदस्य आनंद भारद्वाज, सुशील माहेश्वरी समेत अन्य मौजूद रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned