जियो के दम पर रिलायंस इंडस्ट्रीज का प्रॉफिट 9500 के पार

  • जून के मुकाबले कंपनी के प्रॉफिट में देखने को मिला इजाफा
  • जियो प्लेटफॉर्म्स के प्रॉफिट में 3000 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी
  • रिलायंस रिटेल का ऑपरेटिंग प्रॉफिट मार्जिन 13.77 फीसदी घटा

By: Saurabh Sharma

Updated: 30 Oct 2020, 09:39 PM IST

नई दिल्ली। आज रिलायंस इंडस्ट्रीज के तिमाही नतीजे सामने आ गए हैं। जिसमें जियो प्लेटफॉर्म्स और और रिटेल का बिजनेस शामिल है। आंकड़ों नर नजर दौड़ाएं तो रिलायंस इंडस्ट्रीज का प्रॉफिट पिछली तिमाही के मुकाबले बढ़कर रहा है। जबकि जियो के प्रॉफिट में 3000 करोड़ रुपए से ज्यादा की बढ़ोतरी देखने को मिली है। रिलायंस रिटेल का ऑपरेटिंग प्रॉफिट मार्जिन 13.77 फीसदी कम होकर 2,009 करोड़ रुपए रह गया है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के आंकड़ें
- सितंबर तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का कंसॉलिडेटेड प्रॉफिट 9567 करोड़ रुपए रहा।
- जून तिमाही में कंपनी का एडजस्टेड प्रॉफिट 8380 करोड़ रुपए था।
- वैसे जून जून में कंपनी का प्रॉफिट 13,248 करोड़ रुपए था।
- जिसमें 4966 करोड़ रुपए की अन्य आय भी शामिल थी।
- कंपनी को यह रकम रिलायंस-बीपी मोबिलिटी में बीपी की हिस्सेदारी बेचने से मिली थी।
- सितंबर तिमाही में कंपनी की आमदनी 1,16,195 करोड़ रुपए रही।
- एक साल पहले समान अवधि में कंपनी की आमदनी 1,53,384 करोड़ रुपए थी।
- पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले इस बार कंपनी की आमदनी में 24 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है।

यह भी पढ़ेंः- गिरते बाजार को नहीं उबार सकी रिलायंस की तेजी, लगातार तीसरे दिन लाल निशान पर बंद

जियो प्लेटफॉर्म्स के आंकड़ें
- जियो प्लेटफॉर्म्स के राजस्व में 7.1 फीसदी का इजाफा हुआ है और 21,708 करोड़ रुपए का आंकड़ा पार कर गया है।
- तिमाही का एबिटडा 8.7 फीसदी की वृद्धि के साथ 7,971 करोड़ रुपए रहा।
- तिमाही का शुद्ध लाभ 19.8 फीसदी की वृद्धि दर्ज करते हुए 3,020 करोड़ रुपए रहा है।
- 30 सितंबर, 2020 तक कुल ग्राहक आधार 1.8 प्रतिशत बढ़कर 40.56 करोड़ था।
- तिमाही के दौरान एआरपीयू 145 रुपए प्रति ग्राहक प्रति माह रहा।
- तिमाही के दौरान कुल वायरलेस डेटा ट्रैफिक 1,442 करोड़ जीबी रहा, जिसमें 1.5 फीसदी की वृद्धि देखी गई।

यह भी पढ़ेंः- भारत के लिए क्यों जरूरी बन गई दुनिया की यह सबसे बड़ी ऑयल कंपनी

रिलायंस रिटेल के आंकड़े
- रिलायंस रिटेल ने सालाना आधार पर 4.93 फीसदी की गिरावट के साथ 39,199 करोड़ रुपए की आय दर्ज की।
- ऑपरेटिंग प्रॉफिट मार्जिन 13.77 फीसदी घटकर 2,009 करोड़ रुपए रह गया।
- ब्याज और कर से पहले की कमाई 1,522 करोड़ रुपए कम थी, लगभग 25.36 फीसदी की गिरावट देखने को मिली।
- रिलायंस रिटेल वेंचर्स ने सिल्वर लेक को शेयर जारी करके 7,500 करोड़ रुपये तक की राशि जुटाई।
- रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी अब तक 37,710 करोड़ रुपए जुटा चुकी है।

आरआईएल के शेयरों में 35 फीसदी का इजाफा
इस साल अब तक रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 35 फीसदी की तेजी आ चुकी है। अगर हम 23 मार्च के निचले स्तर से तुलना करें तो रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 131 फीसदी की तेजी आई है। 16 सितंबर को रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैपिटलाइजेशन 16 लाख करोड़ रुपए पहुंचा था। तब कंपनी के शेयर 2369.35 रुपए पर ट्रेड कर रहे थे। आज 30 अक्टूबर को रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 2064 रुपए पर बंद हुए हैं।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned