मंत्री राजभर ने कहा, भाजपा से नहीं बनी बात तो अकेले लड़ेंगे निकाय चुनाव

मंत्री राजभर ने कहा, भाजपा से नहीं बनी बात तो अकेले लड़ेंगे निकाय चुनाव
Minister Om Prakash Rajbhar

Shatrudhan Gupta | Publish: Oct, 31 2017 09:10:17 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

प्रदेश सरकार में सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (भासपा) नगरीय निकाय चुनाव में अकेले अपना दम दिखाएगी।

लखनऊ. प्रदेश सरकार में सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (भासपा) नगरीय निकाय चुनाव में अकेले अपना दम दिखाएगी। दरसअल, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया और सरकार में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर निकाय चुनाव में अपनी पार्टी को हिस्सेदारी न मिलने से नाराज हैं। ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि उनकी भाजपा के प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल से तीन दिन पहले निकाय चुनाव में भागीदारी को लेकर चर्चा हुई है। वहीं, दो दिनों बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी बातचीत होनी है। कैबिनेट मंत्री राजभर ने कहा कि अगर भाजपा से बात बनती है तो ठीक, नहीं तो हमारी पार्टी अपने बलबुते पर नगर निकाय चुनाव लड़ेगी।

ताकत का कराएंगे अहसास

मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि पार्टी के 15वें स्थापना दिवस के अवसर पर पांच नवंबर को राजधानी लखनऊ के रमाबाई अम्बेडकर मैदान में अति पिछड़ा अति दलित भागीदारी रैली आयोजित की गई है, जिसमें पार्टी अपनी ताकत का अहसास कराएगी। उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन में प्रदेश भर से अति पिछड़ा अति दलित समाज के लोग बड़ी संख्या में शामिल होंगे।

बात नहीं बनी तो लेंगे बड़ा फैसला

कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि यदि भारतीय जनता पार्टी से टिकटों को लेकर बात नहीं बनती है तो पार्टी अपने प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारेगी। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी में कई ऐसे चेहरे हैं, जो चुनाव जीत सकते हैं। हमने अपनी बात भाजपा प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बसंल के सामने रख दी है। अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से बात होनी है। उम्मीद है कि बात बन जाएगी, लेकिन अगर बात नहीं बनी तो आगे का फैसला पार्टी बैठक करके लेगी।

पांच नवंबर को बनाएंगे रणनीति

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री व सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि प्रदेश के नगर निकाया चुनाव में भाजपा से सीट ना मिलने पर भारतीय समाज पार्टी अपने दम खम पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने कहा कि अगामी पांच नवंबर को राजधानी लखनऊ में आयोजित भागीदारी रैली में हम अपनी आगे की रणनीति अपने साथियों के साथ बैठकर तय करेंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned