भाजपा 26 जून को लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को सम्मानित करेगी

भाजपा 26 जून को लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को सम्मानित करेगी
BJP will honor democracy defenders on June 26

Anil Ankur | Updated: 25 Jun 2018, 04:46:51 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भाजपा सरकार जनहित का काम नहीं कर रही है

लखनऊ. 25 जून 1975 को कांग्रेस सरकार द्वारा देश में लगाया गया आपातकाल भारतीय लोकतंत्र का काला अध्याय है। भारतीय जनता पार्टी लोकतंत्र के प्रति सतत जागरूकता तथा लोकतंत्र की समृद्धि के लिए सभी जनपदों में लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को सम्मानित करेगी। समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता एवं राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने कहा है कि आज ही के दिन 1975 में 43 वर्ष पहले देश में आपातकाल लगा था जिसमें संविधान प्रदŸानागरिक स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति के मौलिक अधिकार का हनन हुआ था। आपात काल लगते ही विपक्ष के नेताओं को कैद कर लिया गया था। अखबारों पर भी सेंसरशिप लगा दी गई। चारों ओर दहशत और आतंक का माहौल था। न अपील न वकील, न दलील। जेल में यातनाओं का दौर। आज भी उस दिन की याद कर मन में सिहरन उत्पन्न हो जाती है।
श्री चौधरी ने कहा कि देश में आज भी असंवैधानिक अघोषित आपातकाल का दौर चल रहा है। अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला हो रहा है। असहिष्णुता चरम पर है। लोकतांत्रिक व्यवस्था को केन्द्र और राज्य सरकारें कमजोर कर रही है। भाजपा सरकार लोकतंत्र का गला घोटनें में लगी है। ईमानदार पत्रकारों का जीवन असुरक्षित हो गया है। नौजवानों का भविष्य अंधकार के गर्त में ढकेला जा रहा है।
श्री चौधरी ने कहा कि केन्द्र के चार साल के कार्यकाल में संवैधानिक संस्थाओं की विश्वसनीयता पर आंच आई है। सरकार अधिनायकशाही जैसा बर्ताव कर रही है। सरकारी नीतियांे में तानाशाही के संकेत है। समाज को भय और अराजकता के वातावरण में जीना पड़ रहा है। देश में आर्थिक संकट व्याप्त है।
श्री चौधरी ने कहा कि भाजपा सरकार जनहित का काम नहीं कर रही है। गरीबों-बेरोजगारों की समस्याओं के समाधान की दिशा में भाजपा सरकार संवेदनशून्य है। जनता के मौलिक अधिकारों का जिस तेजी से हनन किया जा रहा है वह लोकतंत्र के लिये शुभ संकेत नहीं है। यह नौजवान पीढ़ी पर है कि वह उन शक्तियों को फिर न उभरने दे जिन्होंने कभी इतिहास का वह काला अध्याय लिखा था।
उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र को बचाने के संघर्ष में जिनकी भागीदारी थी उनको सम्मानित करने का काम समाजवादी सरकार ने ही किया है। श्री अखिलेश यादव ने अपने मुख्यमंत्रित्वकाल में लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को प्रतिमाह 15 हजार रूपए की पेंशन स्वीकृत कर उनके सम्मानपूर्ण जीवन निर्वहन का काम किया। उनको राजकीय वाहनों में यात्रा करने, अपने साथ एक सहयोगी को भी रखने, निःशुल्क चिकित्सा के अलावा मरणोपरांत राजकीय सम्मान दिए जाने की भी व्यवस्था की गई .
BJP प्रदेश महामंत्री एवं कार्यक्रम प्रभारी गोविन्द नारायण शुक्ला तथा प्रदेश मंत्री अनूप गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि 26 जून को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय एवं केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकबी विश्वेसरैय्या हाॅल लखनऊ में लोकतंत्र रक्षकों को सम्मानित करंेगे।
श्री शुक्ला ने बताया कि प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर लखनऊ जिला, डा0 राकेश त्रिवेदी सुल्तानपुर, बीएल वर्मा आगरा जिला, नबाव सिंह नागर अमरोहा, जसवन्त सैनी मेरठ जिला, पुरूषोत्तम खंडेलवाल मैनपुरी, श्रीमती रंजना उपाध्याय उन्नाव, राज्यसभा सांसद श्रीमती कान्ता कर्दम शामली, पद्मसेन चैधरी बलरामपुर, अक्षयवर लाल गौड श्रावस्ती, प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया कानपुर महानगर उत्तर, प्रदेश मंत्री संतोष सिंह फैजाबाद, कामेश्वर सिंह मऊ, वाई.पी. सिंह बागपत, देवेन्द्र चैधरी बुलन्दशहर, धर्मवीर प्रजापति हाथरस, देवेश कोरी कानपुर महानगर दक्षिण, सुब्रत पाठक फतेहपुर, प्रकाश पाल झांसी जिला, अंजुला माहौर फिरोजाबाद, सांसद विजय पाल तोमर बिजनौर, राजेन्द्र अग्रवाल नोएडा महानगर, विधान परिषद सदस्य यज्ञदत्त शर्मा इलाहाबाद, केदारनाथ सिंह गाजीपुर में लोकतंत्र रक्षकों सेनानियों को सम्मानित करेंगे। आपातकाल में जेलों में निरूद्ध किए गए लोकतंत्र रक्षकों के सम्मान में भाजपा सभी जिलों में 26 जून को सम्मान कार्यक्रम आयोजित करेगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned