कोरोनाः अगर हैं बीमार, तो घबराए नहीं, घर बैठे जांच से लेकर अस्पताल में दाखिले तक अपनाएं ये Steps

कोरोना (coronavirus in up) से बचाव किया जा सकता है। यदि लक्षण हैं तो घर बैठे टेस्ट से लेकर अस्पतालों में दाखिले तक के लिए कुछ स्टेप्स हैं।

By: Abhishek Gupta

Published: 14 Apr 2021, 03:45 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना (coronavirus in up) की दूसरी लहर ने जो तबाही मचा रखी है, उसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी। अव्यवस्थाओं का आलम यह है कि अस्पतालों में कोरोना जांच (Corona Test) के फॉर्म तक के लिए मारामारी है। जांच के लिए भी टोकन लेना पड़ रहा है और बारी कभी-कभी एक दिन बाद आ रही है। अब जब प्रदेश के मुखिया मतलब मुख्यमंत्री (UP Chief Minister) ही संक्रमित हों, तो उक्त स्थिति भी समझी जा सकती है। कई लोग जानकारी के अभाव में भी देखें जा रहे हैं। खासतौर पर राजधानी लखनऊ में, जहां के शमशान घाटों में अब 24 घंटे अंतिम संस्कार हो रहे हैं। कोरोना से बचाव किया जा सकता है। यदि लक्षण हैं तो घर बैठे टेस्ट से लेकर अस्पतालों में दाखिले तक के लिए निम्न दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें-

ये भी पढ़ें- कोरोनाः फिर रिकॉर्ड 18,021 हुए संक्रमित, शवों के लिए लकड़ियां हो रही खत्म, शवदाह गृहों के लिए यह आदेश

स्टेप 1: यदि आप किसी कोरोना पॉजिटिम मरीज के संपर्क में आए हैं या आप में कोरोना के लक्षण हैं, तो आप ICCC (इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर) पर कॉल कर टेस्ट के लिए सैंपल लेने का अनुरोध करें।

स्टेप 2: यदि आप सरकारी या प्राइवेट लैब की जांच में कोरोना पॉजिटिव आए हैं, तो ICCC के किसी भी नंबर पर संपर्क कर अपना पंजीकरण कराएं। रजिस्ट्रेशन के लिए कोरोना पॉजिटिव मरीज की टेस्ट रिपोर्ट की तस्वीर खींचकर जरूरी दस्तावेज भेजें। यह दस्तावेज जारी किए गए वॉट्सऐप नंबर पर भेजे जा सकते हैं।

स्टेप 3: रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर अपने घर व आस पड़ोस के लोगों की जांच करवाएं। व अपने इलाके को सैनेटाइज करवाने की अपनी करें।

स्टेप 4: मरीज का पंजीकरण होने व दस्तावेजों की जांच के बाद ICCC मरीज को कॉल करेगा व उसके स्वास्थय की जानकारी लेगा। इससे पता चल सकेगा कि आपको होम आइसोलेशन की जरूरत है या अस्पताल में भर्ती कराने की।

ये भी पढ़ें- कोरोनाः 12वीं तक के सभी स्कूल 30 अप्रैल तक बंद, धार्मिक स्थलों पर 5 लोग ही जा सकेंगे, जानें सीएम योगी के सभी नए आदेश

स्टेप 5: यदि मरीज होम आइसोलेशन का विकल्प चुनते हैं तो उन्हें हेलो डॉक्टर हेल्पलाइन नंबर दिया जाएगा। ताकि जरूरत पड़े तो मरीज डॉक्टर की मदद ले सके। इस नंबर पर मरीज डॉक्टर से बात कर प्रिस्क्रिप्शन भेजकर डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं और किसी भी तरह के संदेह को दूर कर सकते हैं।

स्टेप 6: यदि होम आइसोलेशन में मरीज की ज्यादा तबियत खराब हो रही है तो वह ICCC के किसी भी नंबर पर दोबार कॉल कर खुद को अस्पताल में भर्ती करवाने के लिए कह सकता है। इसके लिए मरीज के निवास पर एंबुलेंस भेजी जाएगी। उसे अस्पताल में शिफ्ट किया जाएगा।

स्टेप 7 : यदि एंबुलेंस आने में देर कर रही है, तो मरीज परिजनों की मदद से निजी वाहन से अस्पताल जा सकते हैं। मरीज को अस्पताल में एडमिशन संबंधी जानकारी भेजी जाती है उसके जरिए मरीज को अस्पताल में बेड मिल जाएगा।

11 डॉक्टरों के नंबर जारी हुए हैं जो निम्न हैं-
डॉ. आशुतोष शर्मा 8418930911
डॉ. नईम अहमद शेख 9616633000
डॉ. प्रज्ञा खन्ना 7311148300
डॉ. शाश्वत विद्याधर 9532993071
डॉ. अंकित कटियार 8808901755
डॉ. अनामिका पाण्डेय 7234044555
डॉ. उत्कर्ष बंसल 9453450145
डॉ. मोहिता भूषण 9670966888
डॉ. यशपाल सिंह 8601260267
डॉ प्रांजल अग्रवाल 9415023972
डॉ. पीके गुप्ता 9415541789

कोविड हेल्पलाइन यूपी : 1075
कोविड कमांड कंट्रोल रूम लखनऊ : 0522-4523000, 0522-2610145
हेलो डॉक्टर सेवा : 0522-3515700
केजीएमयू ओपीडी हेल्पलाइन : 0522-2258880

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned