6696 सहायक शिक्षकों को मिला नियुक्ति पत्र, सीएम योगी ने कहा मैं भी बेसिक शिक्षा परिषद स्कूल में ही पढ़ा हूं

- समाज के प्रति ईमानदार रहें और राष्ट्र की नींव मजबूत करें : सीएम योगी

By: Mahendra Pratap

Published: 23 Jul 2021, 06:57 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सरकार ने मिशन रोजगार श्रृंखला के तहत शुक्रवार को बेसिक शिक्षा विभाग के 6696 सहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया है। शुक्रवार को लोक भवन में 250 चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरित किए। जिसमें सीएम योगी आदित्यनाथ ने दस अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया। शेष चयनित अभ्यर्थियों को जिलों में प्रभारी मंत्री और जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में नियुक्ति पत्र बांटे गए।

गोरखपुर में चार साल में 259 उद्योगपतियों ने ली गीडा से कारखाना लगाने को जमीन, चौंक गए

समाज के प्रति ईमानदार बनें :- इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवनियुक्त शिक्षकों से कहाकि, आप सभी लोग समाज के प्रति ईमानदार बनें और राष्ट्र की नींव मजबूत करें। बेसिक शिक्षा तो समाज की नींव है। इसको मजबूत करने से हम समृद्धशाली तथा शक्तिशाली राष्ट्र का निर्माण करने में सफल होंगे।

ऑपरेशन कायाकल्प से स्कूलों का सुंदरीकरण :- शिक्षकों का आह्वान करते हुए सीएम योगी ने कहाकि, वे ग्राम पंचायत के हर घर से जुड़े और गांव के सभी बच्चों का विवरण इकट्ठा कर उन्हेंं शिक्षा की मुख्य धारा से जोड़ें। आज 1.20 लाख से अधिक विद्यालयों का ऑपरेशन कायाकल्प के माध्यम से सुंदरीकरण कर उन्हेंं आकर्षक बनाया गया है। बेसिक शिक्षा परिषद का हमारा वार्षिक बजट 53 हजार करोड़ से अधिक रुपए का है। इसी कारण प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या को इसका लाभ मिलना चाहिए।

अवैध कमाई का जरिया बंद :- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहाकि, मैं स्वयं बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूल में पढ़ा हुआ हूं। उनकी सरकार के कार्यकाल में बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में जिस पारदर्शिता से एक लाख 20 हजार शिक्षकों की भर्ती हुई है, उससे विपक्षी दल भयभीत हैं। अब तो गरीबों के बच्चे पढ़कर आगे बढ़ेंगे तो जातिवाद, क्षेत्रवाद वंशवाद और भ्रष्टाचार पर आधारित उनकी राजनीति बंद हो जाएगी। शुचिता और पारदर्शीता से बुरा उन लोगों को लग रहा है जिनकी अवैध कमाई का जरिया बंद हो गया है। इसी कारण विपक्षी दल युवाओं को गुमराह करने में लगे हैं।

पढ़ाने की वैकल्पिक व्यवस्था खोजें :- कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी ने शिक्षकों से बच्चों को पढ़ाने कोई वैकल्पिक व्यवस्था खोजने का आग्रह किया। हमें शिक्षा की प्रक्रिया को बाधित नहीं होने देना है वरना आने वाली पीढ़ी हमें माफ नहीं करेगी।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned