यूपी में हॉटस्पॉट बना लखनऊः कोरोना संक्रमितों की संख्या 50000 पार, सबसे ज्यादा 21-40 वर्षीय लोग संक्रमित

यूपी में लखनऊ कोरोना (Coronavirus in UP) संक्रमण का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बन गया है। यहां अब तक 50 हजार से ज्यादा लोगों को कोरोना अपनी चपेट में ले चुका है।

By: Abhishek Gupta

Published: 26 Sep 2020, 05:39 PM IST

लखनऊ. यूपी में लखनऊ कोरोना (Coronavirus in UP) संक्रमण का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट (Hotspots) बन गया है। यहां अब तक 50 हजार से ज्यादा लोगों को कोरोना अपनी चपेट में ले चुका है। इनमें सबसे ज्यादा 20-40 आयु वर्ग के लोग प्रभावित हुए हैं। यहां अब तक 653 मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है। हालांकि रिकवरी के आंकड़े सुकून देने वाले हैं। बीते तीन चार दिनों के छोड़े दे तो सितंबर में प्रतिदिन औसतन 900 से हजार मामले सामने आए हैं। कोरोना केस के मामले में दूसरा कोई भी जिला लखनऊ के आसपास भी नहीं है। लखनऊ के बाद कानपुर नगर में 23,800 लोग संक्रमित हो चुके हैं। लखनऊ में बढ़ते मामले देख व खासतौर पर बीते दिनों चार प्राइवेट अस्पतालों की लापरवाही के कारण हुई 48 लोगों की मौत के मामले उजागर होने के बाद डीएम अभिषेक प्रकाश लगातार अस्पतालों का दौरा कर स्वास्थ्य व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं। लखनऊ में अब तक 39580 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं, तो वहीं 9391 सक्रिय केस हैं। अब तक 653 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें- 180 किमी पैदल 'दौड़ाने' के बाद पुलिस ने बुजुर्ग की दर्ज की एफआईआर

सबसे ज्यादा 21-40 वर्षीय लोग संक्रमित-
जारी आंकड़ो के मुताबिक लखनऊ में सबसे ज्यादा 21-40 आयु वर्ग के लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। करीब 47 प्रतिशत (23,693) मरीज इस वर्ग के हैं। वहीं 41-60 आयु वर्ग के 31 प्रतिशत (15,625) मरीज कोरोना की चपेट में आए हैं। इनमें ज्यादातर लोग काम के सिलसिले में घर से बाहर निकले हैं। लापरवाही भी इनकी ओर से ही बरती गई है। वहीं 10 से कम उम्र के बच्चों की बात करें तो केवल 4% (1,899) ही संक्रमित हुए। 60 साल से ज्यादा उम्र वाले केवल 10% (5,029) ही कोरोना ले लड़ते दिखे।

ये भी पढ़ें- कोरोनाः मास्क न पहनने वालों की अब खैर नहीं, हाईकोर्ट ने जारी किए सख्त आदेश

पहले केस से 50 हजार तक-
राजधानी में पहला कोरोना मामला 11 मार्च को आया था। कनाडा से लौटी गोमती नगर नि‍वासी महि‍ला डॉक्टर में केजीएमयू में वायरस की पुष्टि‍ हुई। इसके बाद शहर में मार्च में कुल नौ मरीज थे। वहीं अप्रैल में 197 लोगों में कोरोना वायरस पाया गया। मई में स्थित कुछ सुधरी और 166 कोरोना संक्रमित मरीज मिले। जून में चार गुना से ज्यादा मामले सामने आए। संख्या 751 तक जा पहुंची। वहीं जुलाई में कोरोना का आंकड़ा 7121 पहुंच गया। अगस्त तक 20,353 मरीज कोरोना की चपेट में आ चुके थे। वहीं सि‍तंबर में कुल आंकड़ा 50 हजार पार कर गया।

ये भी पढ़ें- यूपी में बना ऐसा मास्क जो कोरोना से बचाएगा व घर के कामों में भी करेगा मदद

डीएम ले रहे जायजा-
लखनऊ जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने शनिवार को मंडलायुक्त रंजन कुमार के साथ विवेकानंद अस्पताल का दौरा किया व अस्पताल प्रबंधन से कोविड संबंधी व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया। साथ ही उन वार्डों का निरीक्षण भी किया जहां मरीजों का इलाज चल रहा रहा है। मरीजों से बात कर उन्हें दी जा रही सुविधाओं के बारे में भी जानकारी ली गई। डीएम ने अस्पताल प्रबंधन को निर्देश देते हुए कहा कि सरकार द्वारा कोविड 19 मरीजों के इलाज के लिए पूरी व्यवस्था की गई है। ऐसे में किसी तरह की दिक्कत सामने नही आनी चाहिए। साथ ही सभी अस्पतालों को प्रतिदिन आने वाले मरीजों को पूरी डिटेल जिला प्रशासन को देने के निर्देश दिए गए हैं।

coronavirus
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned