देश का युवा का अविष्कार, इलेक्ट्रानिक मास्क करेगा कोरोना से रक्षा, घरेलू उपकरणों को भी करेगा कंट्रोल

यही नहीं महामारी के इस दौर में उन्होंने एक ऐसा मास्क बनाया है जो कोरोना (Coronavirus) से लोगों की रक्षा तो करेगा ही, उनके घरों के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों (Home Appliances) को भी ऑपरेट व कंट्रोल करेगा।

By: Abhishek Gupta

Updated: 17 Sep 2020, 06:18 PM IST

अयोध्या. भारत में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। भारत-चीन (India-China Dispute) के बीच तनाव के चलते सरकार ने चाइनीज एप्स (Chinese Apps) पर बैन लगाया तो, देश की प्रतिभाशाली कंपनियों ने दृढ़ इच्छा शक्ति से उसके तमाम विकल्प झट से तैयार कर दिए। ऐसे ही हैं अयोध्या (Ayodhya) में अवध विश्वविद्यालय के युवा छात्र मो. शाद जो दर्जनों ऐप बना चुके हैं। यही नहीं कोरोना महामारी (Coronavirus) के इस दौर में उन्होंने एक ऐसा मास्क बनाया है जो कोरोना से लोगों की रक्षा तो करेगा ही, उनके घरों के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को भी ऑपरेट व कंट्रोल करेगा। शाद के इस कारनामे की हर ओर चर्चा हो रही है व उसे खूब तारीकें मिल रही है। शाद ने जल्द ही कई और ऐप तैयार करने का भी दावा किया है। व पीएम मोदी से इस काम में समर्थन मांगा है।

ये भी पढ़ें- कोरोनाः मृत्यु दर मामले में कानपुर सबसे आगे, तपड़कर मर रहे मरीज, आंकड़े हैं चौकान वाले

क्या है मास्क की खासियत-
अयोध्या जनपद के अवध विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र मोंय शाद ने कई ऐप तैयार किए है। वहीं सबसे ताजा आविष्कार में उन्होंने इलेक्ट्रिक मास्क तैयार किया है। मो. शाद अहमद का दावा है कि यह मास्क संक्रमण फैलने की संभावना को शून्य करेगा। डब्ल्यूएचओ द्वारा एन-95 मास्क को भी संक्रमण रोकने में नाकाफी बताने के बाद शाद को चिंता हुई और उसके इलेक्ट्रानिक मास्क का अविष्कार किया। इसमें सिंगल व डबल फिल्टर लगे हैं। जो प्रदूषित हवा को शुद्ध तो करेगी ही, लोगों को कोरोना संक्रमण से भी बचाएगा। सबसे अच्छी बात यह है कि इस मास्क को बनाने में अधिकतर वेस्ट मैटीरियल का इस्तेमाल किया गया है। मतलब पर्यावरण का भी खूब ध्यान दिया गया है।

ये भी पढ़ें- कोरोनाकल में छात्र-छात्राओं की सीधी मांग, परीक्षा के लिए करें यह व्यवस्था, वरना नहीं दे पाएंगे एग्जाम

चलेंगे घरों को उपकरण-

यह इंटरनेट आफ थिंक तकनीक से भी लैस है, जिससे संक्रमित व्यक्ति बिना कुछ छुए ही अपने मास्क के सहारे घर की इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को ऑपरेट कर सकेगा। शाद का कहना है कि अगर मास्क खो भी जाए तो चिंता नहीं क्योंकि यह अपनी लोकेशन आपको मोबाइल पर बता देगा। जिससे इसे आसानी से ढूंढा जा सकता है। वहीं यदि कोई संक्रमित व्यक्ति आपके एक मीटर के दायरे में आता है तो यह मास्क आपको तुरंत एलर्ट कर देगा। इस मास्क का वजन लगभग 75 ग्राम है, लेकिन शाद इसे और लाइट वेट कर 40 ग्राम तक लाना चाहते हैं। इसका डेमो तैयार किया गया है।

Corona Mask

सरकार से की समर्थन की अपील-

इलेक्ट्रिक मास्क बनाने वाले मोहम्मद शाद ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के 48 ऐप्स को बैन किया था। लेकिन इसके कुछ विकल्प पहले तो कुछ बाद में बिना देरी के तैयार हो गए थे। शाद ने शेयरइट के बदले एक्सचेंजर, यूसी ब्राउजर के बदले में बी ब्राउजर को तैयार किया है जो पीएम मोदी के चित्र के साथ प्लेस्टोर पर उपलब्ध भी है। इसके साथ ही शाद ने हिंदी ई-कॉमिक्स व कई गेम भी बच्चों के लिए तैयार किए हैं। शाद ने केंद्र व प्रदेश सरकार से मदद की अपील की है। शाद के मुताबिक वह देश के लिए बहुत कुछ करना चाहते हैं।

coronavirus
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned