Reliance Communication की मोबाइल सेवा बंद होने के बाद अब ऐसे चालू होगा बंद नंबर

Reliance Communication की मोबाइल सेवा बंद होने के बाद अब ऐसे चालू होगा बंद नंबर

Alok Pandey | Publish: Oct, 29 2017 03:02:34 PM (IST) | Updated: Oct, 29 2017 07:34:58 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

शनिवार की देर शाम से Reliance Communication ने समाप्त की Mobile सेवाएं

लखनऊ. ऐलान के मुताबिक, गुजरे शनिवार की शाम से Reliance Communication की मोबाइल और टीवी सेवाओं को समाप्त कर दिया गया। इसी के साथ यूपी के 22 लाख से ज्यादा उपभोक्ताओं के मोबाइल फोन मौन हो गए। अचानक सर्विस बंद होने से बेहाल उपभोक्ता अपने पसंदीदा नंबर को चालू कराने के लिए परेशान हैं। सिम कार्ड की सर्विस बंद होने के कारण रिलायंस कम्युनिकेशन के जरिए मोबाइल पोर्टिंग के लिए आवेदन करना भी मुमकिन नहीं है। रिलायंस कम्युनिकेशन के सभी स्टोर्स के शटर भी बंद कर दिए गए हैं। अब रिलायंस कम्युनिकेशन के उपभोक्ताओं को अपना नंबर जारी रखने के लिए तीन विकल्प में किसी एक का सहारा लेना होगा।

 

3-जी सेवाओं को भी बंद करेगी रिलायंस, जल्दी पोर्ट कराएं अपना नंबर (Reliance Mobile Prtability)

रिलायंस कम्युनिकेशन ने फिलहाल 2-जी सर्विस को बंद किया है, लेकिन अगले कुछ दिन में 3-जी सर्विस को भी बंद कर दिया जाएगा। कंपनी ने सिर्फ 4-जी सर्विस को लिमिटेड अवधि के लिए जारी रखने का फैसला किया है। रिलायंस कम्युनिकेशन कंपनी के कार्यकारी निदेशक गुरदीप सिंह के मुताबिक, 21 नवंबर को लाइसेंस अवधि समाप्त होने के बाद डीटीएच सेवाओं यानी बिग टीवी/रिलायंस डिजिटल टीवी को बंद कर दिया गया है। अब 2-जी सेवाओं की समाप्ति हुई है। जल्द ही कंपनी 30 नवंबर के बाद 3-जी सेवाओं को भी किसी वक्त बंद कर देगी।

 

सिर्फ 4-जी सुविधाएं मिलेंगी, लेकिन सीमित समय के लिए (Reliance 4G Services)

कर्ज के बोझ से परेशान Reliance Communication अब सिर्फ 4-जी सेवाओं पर ध्यान केंद्रित करेगी। कार्यकारी निदेशक गुरदीप सिंह ने कहाकि कंपनी आईएलडी वॉयस, कंज्यूमर वॉयस, 4जी पोस्टपेड डोंगल और मोबाइल टावर कारोबार में मुनाफा होने की स्थिति तक बनी रहेगी। ऐसे में कंपनी ने अपने 3-जी उपभोक्ताओं से अगले दो दिन में 4-जी सेवा में परिवर्तन कराने का आग्रह किया है। गौरतलब है कि रिलायंस कम्युनिकेशन के उत्तर प्रदेश के दो परिमंडलों में 22 लाख उपभोक्ता हैं। यूपी-पूर्व में 13 और यूपी-पश्चिम में नौ लाख उपभोक्ता हैं।

 

2-जी सिम वालों को ऐसे पोर्ट कराना होगा अपना नंबर (Reliance Mobile No Prtability)

चूंकि 2-जी सर्विस बंद होने के कारण अब रिलायंस कम्युनिकेशन के उपभोक्ताओं को एमएनपी (Mobile Number Portability) कराने के लिए कंपनी से यूआईडी नंबर मिलना मुमकिन नहीं है। ऐसे में दूसरी कंपनी से जुडऩे के लिए एयरटेल सहित कई कंपनियों के स्टोर से यूआईडी नंबर प्राप्त करना होगा। इसके अतिरिक्त रिलायंस कम्युनिकेशन की कस्टमर केयर सर्विस को फोन लगाकर ओटीपी प्राप्त करने के पश्चात ई-मेल के जरिए भी मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी कराने के लिए यूआईडी हासिल करना मुमकिन है। बहरहाल, अभी 3-जी सर्विस वाले उपभोक्ताओं के पास मौका है। उन्हें अपने रिलायंस मोबाइल से 1900 नंबर पर कैपिटल अक्षरों में पोर्ट लिखकर भेजना है। कुछ समय बाद उन्हें रि-प्लाई कोड मिलेगा, जिसे लेकर अन्य कंपनी के स्टोर से संपर्क करना होगा।

 

जियो के सेंटर से मिलेगी रिलायंस के उपभोक्ताओं को मदद (Reliance Jio Centers help for MNP)

रिलायंस कम्युनिकेशन के उपभोक्ताओं मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी (MNP) के लिए जियो के सेंटर से मदद हासिल कर सकते हैं। 4-जी सेवाओं के लिए Jio और Reliance Communication का मर्जर हो चुका है। ऐसे में जियो के सेंटर से रिलायंस कम्युनिकेशन के 2-जी और 3-जी सेवा वाले उपभोक्ताओं को मदद मिलेगी। यहां यह तथ्य गौरतलब है कि ऐसे भी तमाम उपभोक्ता हैं, जिन्होंने बीते दो-तीन दिन या एक सप्ताह में अपना प्री-पेड नंबर को रिचार्ज कराया था। ऐसे उपभोक्ताओं को कोई रकम वापस नहीं मिलेगी। कंपनी का कहना है कि अक्टूबर के शुरुआत में घोषित कर दिया गया था कि कंपनी महीने के अंत में 2-जी सेवाओं को समाप्त करने वाली है। इस आशय के तमाम मैसेज भी लगातार उपभोक्ताओं के नंबर पर भेजे गए। बावजूद किसी उपभोक्ता ने अपने नंबर को रिचार्ज करा लिया है तो उसे रकम वापस करना मुमकिन नहीं होगा। कारण यह कि शेष रकम का हिसाब करने और उसे वापस करने में खर्च ज्यादा आएगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned