रायबरेली डीएम ने बनाया ऐप कोविड-19 कंटेनमेंट करेगा कोराना वायरस मरीजों की सूचना को ट्रैक

कोरोना मरीजों के साथ साथ क्वारंटाइन किए गए लोगों की भी मिलेगी जानकारी एप इस ऐप से कोरोना पाजिटिव की बैक और ट्रैवेल हिस्ट्री भी मिलेगी
अभी सिर्फ देख सकते हैं अधिकारी और कर्मचारी
शीघ्र ही प्ले स्टोर में डाल कर पब्लिक को अवेयरनेस के लिए भी जोड़ा जाएगा

By: Mahendra Pratap

Published: 10 Apr 2020, 09:54 AM IST

रायबरेली. कोरोना वायरस के इस कठिन दौर में जहां योगी सरकार इसके खात्मे में पूरे मनोयोग से जुटी है वहीं उनकी एक अफसर रायबरेली की जिला अधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने एक मिसाल कायम की है। रायबरेली की डीएम शुभ्रा सक्सेना ने गुरुवार 9 अप्रैल को एक ऐसा ऐप लांच किया जो कोरोना वायरस की इस लड़ाई में अहम भूमिका निभाएगा। पर यह ऐप अभी सिर्फ रायबरेली जिले की जनता के लिए ही मददगार होगा। पूरे भारत में कोई भी जिला अपने क्षेत्र में इस ऐप के जरिए कोरोना वायरस की लड़ाई में एक योद्धा साबित हो सकता है। एप्लीकेशन का नाम कोविड-19 कंटेनमेंट है। इस एप्लीकेशन की साइट www.coronacontainmentrbl.com है। इसे डीएम शुभ्रा सक्सेना ने खुद ही बनाया है। डीएम शुभ्रा सक्सेना का शैक्षिक बैकग्राउंड आईआईटी का है।

एप्लीकेशन की खासियत :- इस एप्लीकेशन की खासियत है कि इस एप्लीकेशन में संदिग्ध कोरोना मरीज या उनका इलाज चल रहा है या उनकी रिपोर्ट आने वाली हो या उनका पर्सनल डिटेल हो या उनके रहने वाली जगह व जिस जगह से वह आए हैं। उस जगह की डिटेल हो इस एप्लीकेशन से सभी अधिकारियों व कर्मचारियों तक पहुंचेगी।

अफसरों को करेगा अपडेट :- इस एप्लीकेशन का काम रायबरेली के सभी अधिकारियों को इस बात से अपडेट कराना होगा कि आखिरकार कोरोनावायरस किस प्रकार बढ़ रहा है या घट रहा है या कितने क्षेत्रों में प्रभावित होगा। इस ऐप का अगले 3 दिनों में मोबाइल एप्लीकेशन भी डेवलप किया जा रहा है। इस एप्लीकेशन से अभी रायबरेली की जनता का ही लाभ मिलेगा। हालांकि इस एप्लीकेशन को बनाने का उद्देश्य सिर्फ कर्मचारियों अधिकारियों तक सूचना पहुंचाना होगा।

जनता भी जान सकेगी हाल :- इस एप्लीकेशन से रायबरेली की जनता इस बात को जान सकती है कोरोना वायरस किस क्षेत्र में पाया गया है। और उसके आस-पास कितनी दूरी तक प्रभावित है। इस समय किस प्रकार की जांच चल रही है। और आखिरकार जांच कहां तक पहुंची हुई है।

डीएम शुभ्रा सक्सेना ने पत्रकारों को बताया कि इस एप्लीकेशन की सोच उनकी स्वयं की है। इस एप्लीकेशन को गूगल प्ले स्टोर से अगले 3 दिनों के बाद डाउनलोड किया जा सकेगा। इस एप्लीकेशन को डीएम शुभ्रा सक्सेना ने स्वयं एज क्लाइंट और एज आ डेवलपर पर डेवलप किया है। जिसको अपडेट करने के लिए डीएम शुभ्रा सक्सेना ने टीम भी गठित की है। इसकी कमान खुद जिले की जिलाधिकारी अपने पास रखेंगी।

रायबरेली की डीएम शुभ्रा सक्सेना ने लॉकडाउन में गरीबों और जरुरतमंदों के लिए सभी जरूरी वस्तुओं को पहुंचाने में मददगार हैं। राशन के साथ रोजमर्रा की जरूरतों को जनता पहुंचाने के लिए जनता बाजार लगवा है। जिससे उनको शहर या कस्बे में न आना पड़े।

coronavirus COVID-19
Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned