उप्र के पर्यटन और स्वच्छता के लिए निजी कंपनियों देंगी धन, योगी ने सीएसआर पोर्टल का किया उद्घाटन

उप्र के पर्यटन और स्वच्छता के लिए निजी कंपनियों देंगी धन, योगी ने सीएसआर पोर्टल का किया उद्घाटन

Akansha Singh | Publish: Sep, 11 2018 12:45:55 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को उत्तर प्रदेश कॉर्पोरेट सोशल रेस्पॉन्सबिलिटी कॉन्क्लेव का उद्घाटन किया।

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को उत्तर प्रदेश कॉर्पोरेट सोशल रेस्पॉन्सबिलिटी कॉन्क्लेव का उद्घाटन किया। सीएम योगी ने इससे संबंधित पोर्टल की भी लांचिंग की। सम्मेलन में सीआईआई, फिक्की, पीएचडी चैंबर्स आफ कामर्स, आईआईए व अन्य औद्योगिक संगठन शिरकत की। कार्यक्रम में कई इन्वेस्टर्स भी शामिल हुए। इस कॉन्क्लेव के जरिए सरकार की कोशिश उद्यमियों को विभिन्‍न क्षेत्रों में निवेश का अवसर प्रदान करना है।

सीएम वेबपोर्टल लॉन्च किया

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस कॉन्क्लेव में सीएसआर पोर्टल भी लॉन्च किया। इस पर कंपनियों के सीएसआर योगदान और उनकी गतिविधियों की विस्तृत जानकारी उपलब्ध रहेगी। उत्तर प्रदेश सरकार ने सीएसआर फंड का अधिकतम उपयोग खुले में शौचमुक्त मिशन के लिए शौचालय बनाने, संस्कृत विद्यालयों के जीर्णोद्धार व धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने वाली गतिविधियों में करने का विचार बनाया है। प्रदेश में इस तरह का यह पहला कॉन्क्लेव होगा।जनसंख्या और उपभोक्ता बाजार के हिसाब से उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा प्रदेश है। लेकिन, सीएसआर पर खर्च करने वाली कंपनियों में से महज छह फीसदी ही यहां अपने फंड का कुछ हिस्सा खर्च करती हैं। प्रदेश में यह हिस्सेदारी राष्ट्रीय स्तर पर कुल खर्च का तीन प्रतिशत बताई जा रही है।

पर्यटन और स्वच्छता के लिए निजी कंपनियों देंगी धन
स्‍वच्‍छ भारत अभियान संचालित करने, पर्यटन स्‍थलों और संस्‍कृत विद्यालयों का पुनर्निर्माण करने के लिए सरकार अब निजी कंपनियों से फंड जुटाएगी। निजी कंपनियों के सीएसआर फंड के बारे में प्रदेश सरकार चाहती है कि उसका सुनियोजित तरीके से इस्‍तेमाल हो। इससे प्रदेश के विकास में तेजी आएगी।

इस बारे में सरकारी अधिकारियों का कहना है कि कॉन्‍क्‍लेव में शामिल होने वाले उद्यमियों की सलाह और विचार के बाद ही कोई रूपरेखा बनेगी, लेकिन पर्यटन क्षेत्र में सीएसआर फंड के साथ ही निवेश का माहौल बन सकता है। उद्यमी संगठनों ने भी इस दिशा में सकारात्मक रुख दिखाया है। आईटी कंपनी के संचालक संदीप सक्‍सेना ने कहा कि यह सरकार का अच्‍छा प्रयास है और बेहतर होगा कि सीएसआर फंड को मुख्‍यमंत्री की देखरेख में ही इस्‍तेमाल किया जाए।

Ad Block is Banned