BIG NEWS: गोरखा रेजिमेंट और एसएसबी के जवान आपस में भिड़े, अफरा तफरी

BIG NEWS: गोरखा रेजिमेंट और एसएसबी के जवान आपस में भिड़े, अफरा तफरी

Sunil Yadav | Publish: Sep, 04 2018 11:33:28 AM (IST) Mahrajganj, Uttar Pradesh, India

नेपाल से छुट्टी काटकर लौट रहे थे गोरखा रेजिमेंट के जवान, बॉर्डर पर जांच कराने को लेकर हुआ विवाद

महराजगंज. यूपी के महराजगंजज जिले में भारत नेपाल सीमा के सोनौली बार्डर पर जांच के दौरान एसएसबी और सेना के गोरखा रेजीमेंट के जवानों के बीच जमकर मारपीट हो गई। जिसके कारण बार्डर पर कुछ देर के लिए आवागमन ठप हो गया और अफरा तफरी मचा गई।


सोमवार की रात करीब दस बजे भारतीय सेना के गोरखा रेजिमेंट के करीब बीस जवान नेपाल से अपने घरों से छुट्टी काट कर भारत में अपने ड्यूटी पर जाने के लिए सोनौली बार्डर पर पहुंचकर जैसे ही भारत में प्रवेश किए तो एसएसबी जवानों ने उन्हें जांच कराने के लिए रोका लिया। इसके बाद नेपाल से सादी वर्दी में आए जवानों ने अपने को गोरखा रेजिमेंट का जवान होना बताया और अपना परिचय पत्र भी दिखाया। जबकि कुछ जवानों ने जांच कराने और परिचय पत्र दिखाने से मना कर दिया। जिसपर जांच कर रहे एसएसबी के जवानों से कहासुनी और नोक झोक शुरू हो गई। देखते ही देखते मामला मारपीट तक पहुंच गया।


जानकारी के मुताबिक करन बहादुर नामक गोरखा रेजीमेंट का एक जवान चोटिल हो गया। बार्डर पर मारपीट से दोनों देशों के बीच आवागमन ठप हो गया और सरहद पर हड़कंप मच गया। गोरखा रेजिमेंट के कुछ जवान भागकर नेपाली सीमा में स्थित पुलिस चौकी में पहुंचकर घटना की जानकारी बेलहिया इंस्पेक्टर को दी। जिस पर प्रभारी निरीक्षक वीर बहादुर थापा मौके पर पहुंचकर एसएसबी के जवानों से वार्ता कर मामला सुलझाया। तब कहीं जाकर बार्डर पर स्थिति सामान्य हुई।


इस संबंध में इंस्पेक्टर बेलहिया वीर बहादुर थापा का कहना है कि एसएसबी के जवानों और गोरखा रेजीमेंट के जवानों के बीच मारपीट हुई थी, किंतु काफी प्रयास के बाद जवानों को समझा-बुझाकर भारत भेज दिया गया।

By- यशोदा श्रीवास्तव

यह भी पढ़ें- चीन के साथ भारत का व्यापार घाटा कम करने के लिए मोदी सरकार करने जा रही है बड़ा काम, व्यापारियों को मिलेगा लाभ

Ad Block is Banned