scriptMotivational story of preeti yadav | दुनियावी रोशनी नहीं, हौसले के सहारे जीवन की छलांग | Patrika News

दुनियावी रोशनी नहीं, हौसले के सहारे जीवन की छलांग

locationजयपुरPublished: Sep 16, 2021 08:45:36 am

Submitted by:

Deovrat Singh

Motivational Story: यदि हौसला मजबूत हो, तो हर काम में सफलता का परचम लहराया जा सकता है। ऐसा ही एक उदाहरण प्रस्तुत कर रही हैं गरियाबंद के बरभाटा गांव की रहने वालीं 30 वर्षीय दृष्टिहीन प्रीति यादव।

preeti_yadav.png

Motivational Story: यदि हौसला मजबूत हो, तो हर काम में सफलता का परचम लहराया जा सकता है। ऐसा ही एक उदाहरण प्रस्तुत कर रही हैं गरियाबंद के बरभाटा गांव की रहने वालीं 30 वर्षीय दृष्टिहीन प्रीति यादव। प्रीति ने कभी दिन-रात नहीं देखे, लेकिन अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से लॉन्ग जम्प और गोला फेेंक में कई मेडल जीत चुकी हैं। वह अब इंटरनेशनल खेलने की तैयारी में जुटी हैं। प्रीति की सफलता का सफर अभावों के बीच से निकला है। आज वह दृष्टिहीन बच्चों को पढ़ाने के साथ ही उन्हें खेलों के लिए प्रोत्साहित भी कर रही हैं।

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.