बजट 2019 के बाद निवेशकों को 6.53 लाख करोड़ रुपए का नुकसान, सेंसेक्स में 1351 अंकों की गिरावट

बजट 2019 के बाद निवेशकों को 6.53 लाख करोड़ रुपए का नुकसान, सेंसेक्स में 1351 अंकों की गिरावट

Saurabh Sharma | Publish: Jul, 11 2019 07:15:04 AM (IST) | Updated: Jul, 11 2019 07:40:40 AM (IST) बाजार

Budget 2019 के बाद Share Market में अभी तक निवेशकों में भारी निराशा का दौर जारी है। चार कारोबारी दिनों में निवेशकों के 6.53 लाख करोड़ रुपए डूब गए हैं, वहीं Sensex 1351 अंक नीचे आ चुका है।

नई दिल्ली। न्यू इंडिया बजट ( New india budget ) बीते चार कारोबारी दिनों में निवेशकों के लिए नुकसान और सिर्फ नुकसान लेकर आया है। 5 जुलाई से 10 जुलाई के बीच शेयर बाजार ( share market ) सिर्फ चार दिन खुला है। इन चारों दिनों में निवेशकों के 6.53 लाख करोड़ रुपए डूब चुके हैं। वहीं दूसरी ओर बांबे स्टाॅक एक्सचेंज ( Bombay Stock Exchange ) का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स ( sensex ) 1351 अंक लुढ़क चुका है। वहीं बात नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( National Stock Exchange ) की बात करें तो इन कारोबारी दिनों में निफ्टी 50 ( Nifty 50 ) 448 अंक नीचे आ चुका है। आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि बजट के दिन से लेकर अब शेयर बाजार निराशा के दौर से उठ नहीं सका है।

सेंसेक्स में 1351 अंकों की गिरावट

BSE Sensex

सेंसेक्स के गिरने का सिलसिला 5 जुलाई से शुरू हुआ। उस दिन सेंसेक्स में 395 अंकों की गिरावट देखने को मिली थी। उसके बाद दो दिन का अवकाश रहा। सोमवार को सेंसेक्स में और ज्यादा गिरावट देखने को मिली। सोमवार को एक दिन की गिरावट 793 अंकों की हो गई। मंगलवार को सेंसेक्स सपाट स्तर पर बंद हुआ था। आज बुधवार को सेंसेक्स में सुबह से गिरावट देखी गई बाजार बंद होने तक सेंसेक्स 173.78 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुआ। चार जुलाई को सेंसेक्स 39.908.06 अंकों पर बंद हुआ था। ऐसे में चार दिनों के सेंसेक्स के प्रदर्शन को देखें तो 1351 अंकों की गिरावट का रहा है।

मात्र चार दिनों में सेंसेक्स में भारी गिरावट

तारीख सेंसेक्स में गिरावट ( अंकों में )
5 जुलाई - 395
8 जुलाई - 793
9 जुलाई + 10.25
10 जुलाई - 174
कुल गिरावट - 1351


निफ्टी भी नहीं दिखा पाया दम

National Stock Exchange

अगर बात नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के प्रमुख सूचकांक निफ्टी भी काफी कमजोर दिखाई दिया है। बजट के दिन से जो गिरावट का सिलसिला शुरू हुआ वो अभी तक जारी है। अगर पांच 5 जुलाई की ही करें तो 136 अंकों की गिरावट के साथ बंद हुई। उसके दो दिन के अवकाश के बाद जो निफ्टी में और भी हहाकार मच गया। उस दिन निफ्टी में 253 अंकों की गिरावट देखी गई। यहीं निफ्टी की कमर टूटने का काम शुरू हो गया। कहां निफ्टी 12 हजार अंकों के आसपास झूल रहा था, वहीं दो दिनों में करीब 400 अंकों की गिरावट देखने को मिल गई। मंगलवार को करीब 3 अंकों की मामूली गिरावट के साथ बंद हो गया। बुधवार को निफ्टी में कोई खास प्रगति देखने को मिली। सुबह से दबाव के कारण निफ्टी लाल निशान पर रहा। अंत में 57 अंकों की गिरावट के साथ बंद हो गया। इन चार दिनों में दिनों में निफ्टी 448 नीचे आ गया।

मात्र चार दिनों में निफ्टी में भारी बिकवाली

तारीख निफ्टी में गिरावट ( अंकों में )
5 जुलाई - 136
8 जुलाई - 253
9 जुलाई - 3
10 जुलाई - 57
कुल गिरावट - 448


निवेशकों को हुआ भारी नुकसान
वहीं अगर बात निवेशकों की करें तो 5 जुलाई से अब तक बाजार के निवेशकों को भारी नुकसान हो चुका है। यह सिलसिला 5 जुलाई यानी बजट के दिन से ही शुरू हुआ। 5 जुलाई को बीएसई के मार्केट कैप में 2.22 लाख करोड़ रुपए का नुकसान देखने को मिला। यही निवेशकों का नुकसान भी कहलाता है। वहीं सोमवार को यह नुकसान और बढ़ गया। उस दिन निवेशकों को 3.39 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो गया। मंगलवार को सेंसेक्स पॉजिटिव नोट के साथ मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ था, उस दिन निवेशेकों की झोली में 11,333 करोड़ रुपए के चिल्लर ही गिरे। अगर आज की बात करें तो 1.02 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

चार दिनों में निवेशकों को बड़ा नुकसान

तारीख निवेशकों को नुकसान ( लाख करोड़ रुपए में )
5 जुलाई 2.22
8 जुलाई 3.39
9 जुलाई 11,333 करोड़ का फायदा
10 जुलाई 1.02
कुल नुकसान 6.53

अभी और आ सकती है गिरावट
एंजेल ब्रोकिंग रिसर्च एंड कमोडिटीज एंड रिसर्च के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता का कहना है कि मौजूदा समय में इंटरनेशनल और डोमेस्टिंग सेंटीमेंट्स की वह से इंवेस्टर्स का कांफिडेंस कमजोर देखने को मिल रहा है। कहीं से भी पॉजिटिव सेंटीमेंट्स नजर नहीं आ रहे हैैं। ऐसे में अलगे कुछ कारोबारी दिनों में और गिरावट देखने को मिल सकती है। वहीं बाजार की नजरें कॉरपोरेट अर्निंग पर भी हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned