Murder Mystery औरत और जमीन के लिए हुकुम सिंह को कुल्हाड़ी से काट डाला

-दो हत्यारोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, सूत्रधार अभी फरार

मथुरा। बेशकीमती जमीन और औरत के लिए हुकुम सिंह की हत्या हुई। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि दो अभी फरार हैं। 17 जून को हुकुम सिंह पुत्र सोनपाल निवासी कुंजेरा थाना गोवर्धन की हत्या कर दी गई थी। हत्यारों ने बर्बारता दिखते हुए उसके टुकड़े टुकड़े कर डाले थे। पुलिस पर इस मामले के खुलासे का दबाव था। पुलिस पर निष्क्रियता का आरोप लगाते हुए नाराज ग्रामीणों ने राधाकुण्ड पुलिस चौकी पर जमकर हंगामा काटा था। इस दौरान चौकी पर तोड़फोड़ कर पुलिसकर्मियों के साथ अभद्रता भी की गई थी। इस मामले में पुलिस ने नामजदों सहित अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली थी। इसके बाद एसएसपी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए अलग से टीम लगाई गयी थी।

यह भी पढ़ें- Weather change कान्हा की नगरी में जमकर बरसे इंद्र देव, गर्मी से मिली राहत, देखें वीडियो

हुकुम सिंह की हत्या दिनदहाड़े की गई थी। गिरफ्तार हत्यारोपियों ने बताया कि हुकुम सिंह भैंस चराने जंगल में गया था। चार लोगों ने उसे वहीं दबोच लिया और मौत के घाट उतार दिया था। मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने वीरपाल सिंह पुत्र कारे सिंह निवासी कोन्हई रोड राधा कॉलोनी राधाकुण्ड गोवर्धन तथा करूआ पुत्र गनेशी निवासी कोन्हई गोवर्धन को गिरफ्तार कर किया है। जबकि कुन्जेरा के ही नन्नू पुत्र नथोली तथा महोवा पुत्र नत्थी अभी फरार हैं।

यह भी पढ़ें- govardhan parikrama लगाने आए युवक की राधाकुंड में डूबने से मौत

औरत और जमीन की जगह मिली जेल
प्रभारी निरीक्षक थाना गोवर्धन लोकेष भाटी ने बताया कि हत्यारोपियों की गिरफ्तारी से पहले कई सनसनीखेज खुलासे हुए। हत्या में नन्नू, महोवा, वीरपाल और करूआ के नाम प्रकाश में आये। हत्या के पीछे औरत और जमीन दोनों ही वहज रहीं। हुकुम सिंह और महावो के संबंध एक ही औरत से थे। महोवा और करूआ ने मिलकर औरत की जमीन का किसी तीसरे व्यक्ति के नाम इकरारनामा करा दिया था। इस जमीन की कीमत इस समय बहुत ज्यादा हो गई है। मृतक हुकुम सिंह ने अपनी ओर से 1.3 लाख रूपए देकर जमीन को औरत के नाम वापस करा दिया। इसके बाद यह औरत हुकुम सिंह के ज्यादा करीब आ गई। महोवा को यह नागवार गुजर रहा था जबकि महावो जमीन जाने से हुकुम सिंह से जल भुन रहा था। इसी के बाद हुकुम सिंह की हत्या की कहानी तैयार की गई। 17 जून की दोपहर को कुल्हाड़ी से काट कर इन चारों लोगों ने हुकुम सिंह की हत्या कर दी। कुल्हाड़ी को महावो और नन्नू अपने साथ ले गये।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned