scriptTwo brothers set out on foot for Ayodhya from Bhrigu Ashram to visit R | रामलला का दर्शन करने भृगु आश्रम से पैदल ही अयोध्या निकल पड़े दो सगे भाई | Patrika News

रामलला का दर्शन करने भृगु आश्रम से पैदल ही अयोध्या निकल पड़े दो सगे भाई

locationमऊPublished: Jan 05, 2024 04:12:39 pm

Submitted by:

Abhishek Singh

अयोध्या में रामलाल प्राण प्रतिष्ठा की आयोजन के चलते पूरा देश रामायण हो चुका है इसी बीच बलिया स्थित भृगु आश्रम से पैदल चलकर दो सगे भाई अयोध्या के लिए निकल पड़े हैं यह दोनों भाई अयोध्या पहुंच करके रामलाल के दर्शन पूजन करेंगे बलिया से निकाल करके मऊ जब पहुंचे तो यहां पर राम भक्तों के द्वारा इनका भव्य स्वागत किया गया

ramlala.jpg
बलिया से अयोध्या निकले दो सगे भाई
राम मंदिर को लेकर पूरा देश भक्ति के सागर में गोते लगा रहा, रोज कुछ न कुछ नया हो रहा। जो व्यक्ति जैसे चाह रहा वो वैसे अपनी सामर्थ्य के अनुसार राममय हो रहा। भक्ति भाव में सभी डूबे हैं। इसी भक्ति में डूबकर भगवान भृगु की धरती से 2 भक्त अयोध्या के लिए पैदल ही निकल पड़े हैं। जी हां हिमांशु सिंह और प्रियांशु सिंह नाम के दो भाई बलिया से पैदल ही अयोध्या राम मंदिर तक की यात्रा कर रहे हैं। इन्होंने राम मंदिर तक की अपनी यात्रा बलिया के भृगुनाथ मंदिर से 1 दिसंबर को शुरू की है। इन दोनो भाइयों की लगन और भक्ति देखकर लोग भाव विह्वाल हैं । वो जगह जगह इन दोनों भाइयों का स्वागत और आदर सत्कार कर रहे। मऊ में भी इन दोनों भाइयों का भक्ति भाव से स्वागत किया गया।

हिमांशु बताते हैं कि पैदल यात्रा का संकल्प ले कर उन्होंने बलिया जिले के भृगु मंदिर से अयोध्या के लिए अपनी यात्रा शुरू की। उन्होंने अपनी यह यात्रा 1 दिसंबर को शुरू की है। अपनी यात्रा में हिमांशु भक्ति भाव से ओत प्रोत हैं। वो बताते हैं कि अभी तक भगवान राम एक टेंट में रहते थे पर हमारी पीढ़ी बहुत ही भाग्यशाली है जो उन्हें एक भव्य मंदिर में प्रतिष्ठित होते हुए देखेगी। उन्होंने बताया कि यात्रा में उन्हें किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं हो रही। लोग भक्ति में डूबकर उनके लिए रास्ते में भोजन और रहने का प्रबंध कर रहे। इसके साथ ही उनके लिए लोग रूपयों पैसे का भी प्रबंध कर दे रहे। हिमांशु के छोटे भाई प्रियांशु जो इस यात्रा में उनके साथ हैं ने बताया कि उनकी पूरी श्रद्धा भगवान राम में है, और वो अयोध्या में होने वाले इस ऐतिहासिक क्षण के साक्षी बनना चाहते हैं। इसी का संकल्प ले कर उन्होंने अपनी यात्रा शुरू की है। भगवान ने चाहा तो 22 जनवरी तक निश्चित ही पैदल यात्रा करके अयोध्या पहुंच जायेंगे।

ट्रेंडिंग वीडियो