स्कूलों की फीस देने के आ रहे मैसेज पर बच्चों ने सीएम योगी से लगाई गुहार, कहा- हमारे लिए कुछ कीजिए

Highlights

  • स्कूल प्रबंधन पर फीस के मैसेज भेजने के आरोप
  • बच्चों ने की प्रशासन से भी की हस्तक्षेप की मांग
  • कहा- पेरेंट्स बाहर नहीं गए तो पैसे कहां से आएं

 

By: sanjay sharma

Published: 24 May 2020, 03:11 PM IST

मेरठ। योगी जी, हमारी आपसे बस यही अपील है कि इन दिनों लॉकडाउन के चलते हमारे पेरेंट्स घर से बाहर अर्निंग के लिए नहीं निकल सकते। ऐसे में उन पर स्कूल वाले फीस का दबाव नहीं बनाएं। ये कहना है कक्षा 10 में पढऩे वाली छात्रा नुपुर का। कुछ ऐसे ही मैसेज और स्लोगल लिए आजकल मेरठ के बच्चे सूबे के मुख्यमंत्री योगी से गुहार लगा रहे हैं। एक अन्य छात्रा माही का कहना है कि स्कूल के ग्रुपों में प्रतिदिन टीचर मैसेज डालती हैं कि स्कूल की फीस पे करो। जब हमारे परिजन बाहर ही नहीं जा पा रहे तो स्कूल की फीस के लिए पैसा कहां से लाएं। बाहर निकलने पर पिताजी को पुलिस पकड़ लेती है। हमारी योगी जी से सिर्फ यही अपील है कि वे स्कूल की फीस माफ करवाएं।

यह भी पढ़ेंः आइसोलेशन वार्ड में मोबाइल फोन पर लगाई गई रोक, कहा- इससे फैलता है कोरोना संक्रमण

बता दें कि इन दिनों मेरठ प्रशासन की लापरवाही और लचर व्यवस्था के चलते अब स्कूल प्रशासन अभिभावकों को फरमान जारी कर रहे हैं। स्कूल धमकी दे रहे हैं कि अगर बच्चों की स्कूल फीस नहीं जमा की तो बच्चों को आनलाइन क्लास में बैठने से रोक देंगे। मेरठ के अभिभावक अब जिला प्रशासन से मांग कर रहे हैं कि वह इस मामले में हस्ताक्षेप करे। बता दें कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में कोई भी शैक्षिक संस्थान पेरेंट्स को लॉकडाउन पीरियड के दौरान फीस जमा करने के लिए मजबूर नहीं करेंगे। फीस नहीं जमा करने की स्थिति में छात्रों को ऑनलाइन कोर्स की सुविधा से भी वंचित नहीं किया जा सकता है। वहीं हरियाणा सरकार ने पिछले हफ्ते आदेश दिया था कि लॉकडाउन के समाप्त होने तक स्कूलों में फीस कलेक्शन की सभी गतिविधियों को रोक दिया जाए।

यह भी पढ़ेंः कोरोना से महिला ने दम तोड़ा, मरने वालों की संख्या हुई 22, संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 369

मेरठ पेरेंट्स एसोसिएशन ने भी डीएम अनिल ढींगरा को पत्र लिखा है और लॉकडाउन की अवधि तक स्कूल फीस जमा से राहत दिलाने का आग्रह किया है। एसोसिएशन ने पत्र में कहा है कि चूंकि छोटे और मध्यम उद्यमों से कमाई बंद हो गई है और लोगों ने जो बचाकर रखा था, उसे भी रोजाना की जरूरतों के लिए खर्च कर दिया है, ऐसे में लोगों को काफी मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है।

Corona virus coronavirus
Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned