डीएम ने कहा- संदिग्ध के दिखने पर दें तुरंत सूचना, सोशल डिस्टेंस का ख्याल नहीं रखने वालों पर अब होगी कड़ी कार्रवाई

Highlights

  • मेरठ जनपद में अब तक मिले कुल 313 जमाती
  • अभी तक 14 जमाती मिले हैं कोरोना पॉजिटिव
  • बाकी 152 जमातियों की रिपोर्ट आनी है बाकी

 

By: sanjay sharma

Published: 08 Apr 2020, 02:40 PM IST

मेरठ। मेरठ के जलीकोठी क्षेत्र से मिले छह लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा जा चुका है। वहीं जितने भी क्वारंटाइन सेंटर हैं, वहां पर मजिस्ट्रेट और पुलिस बल तैनात किया गया है। सभी क्वारंटाइन सेंटरों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। यह कहना है मेरठ के डीएम अनिल ढींगरा का। उन्होंने बुधवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि जिले में अभी तक 313 जमाती ट्रेस किए गए हैं, जिनमें से अभी तक 14 पॉजिटिव पाए गए हैं। बाकी जमातियों को मस्जिदों के अलावा मदरसों और अन्य स्थानों पर क्वारंटाइन किया गया है। उनकी बराबर मॉनिटरिंग की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः Lockdown : मुस्लिम धर्मगुरूओं ने शब-ए-बारात को लेकर समुदाय के लोगों से की ये अपील, कहा- घर पर रहकर ही करें इबादत

डीएम अनिल ढींगरा ने बताया कि जली कोठी इलाके में छह लोगों को ट्रेस किया गया है, जो कि बाहर से आए थे। इनके ब्लड सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं। डीएम ने बताया कि अभी 152 लोगों की रिपोर्ट और आनी बाकी है। अभी भी जितने भी जमाती आए हैं, उन सबको क्वारंटाइन किया गया है। डीएम ने लोगों से अपील की है कि अगर उनको कोई कहीं संदिग्ध दिखाई देता है तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस और प्रशासन को दें। उन्होंने बताया कि इसके लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए गए हैं। उस पर भी फोन कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर कोई सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं कर रहा है तो इसकी जानकारी भी हेल्पलाइन नंबर पर दें। इसके बाद भी अगर कुछ होता है तो मस्जिद और अन्य जगहों पर सील कर सैनिटाइज किया जाएग।

यह भी पढ़ेंः Lockdown के दौरान किराए के मकान में गुपचुप आकर रहने लगे आठ लोग, स्वास्थ्य विभाग की टीम के पहुंचने पर मच गई अफरातफरी

उन्होंने बताया कि सभी दुकानों पर रेट लिस्ट लगाने को कहा गया है। व्यापारियों ने रेट लिस्ट जारी भी कर दी है। डीएम अनिल ढींगरा ने कहा कि पहले कंट्रोल रूम में 100 से अधिक शिकायतें रेट से संबंधित ही आ रही थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर किसी के संज्ञान में कोई जानकारी आती है तो उसको प्रशासन को बताएं। कहीं भी सोशल डिस्टेंस के नियमों का उल्लंघन नहीं होना चाहिए। प्रशासन ने एक-एक मीटर पर गोले बनवाए हैं। उन्होंने बैंकों से अपील की है कि वे अपने यहां सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें।

Show More
sanjay sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned