मायावती के भाई के नाम से सोशल मीडिया पर बना डाला फर्जी पेज और की गई ये डिमांड

Highlights

  • बसपा नेताओं ने कहा- बदनाम करने की हो रही साजिश
  • पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को संदेश भेजने का आरोप
  • पार्टी नेताओं ने मैसेज भेजकर कार्यकर्ताओं से की अपील

By: sanjay sharma

Published: 27 Nov 2019, 12:27 PM IST

मेरठ। बसपा सुप्रीमो मायावती के भाई और बसपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आनंद कुमार के नाम से सोशल मीडिया पर एक पेज बनाया गया है। इसमें पार्टी कार्यकर्ताओं से रुपये की डिमांड की जा रही हैै। इस पेज से पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को मैसेंजर से मैसेज भेजकर वकील का बैंक खाता बताकर उसमें पार्टी फंड के लिए पांच लाख रुपये जमा कराने के लिए कहा जा रहा है। अनेक पार्टी कार्यकर्ताओं के पास यह संदेश भेजा गया है। इसके बाद बसपा नेताओं ने भी सोशल मीडिया के माध्यम से अपील की है कि वह इस फर्जीवाड़े में न फंसे और पैसे जमा न कराएं।

यह भी पढ़ेंः यूपी के 17 जिलों का अलग प्रदेश बनाने की मांग, 18 सांसदों को भेजी पीले चावल की पाती, देखें वीडियो

बसपा के राष्ट्रीय उपाध्ययक्ष आनन्द कुमार बीएसपी के नाम से फेसबुक पर बनाए गए इस फर्जी पेज पर प्रोफाइल में आनन्द और बसपा सुप्रीमो मायावती के एक सोफे पर बैठे फोटो को लगाया हुआ है। इसके पीछे एक और मंच का फोटो है जिसमें भतीजे आकाश के साथ बसपा सुप्रीमो मायावती दिखाई दे रही है। आरोप है कि इस फेसबुक पेज के मैसेंजर से पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को मैसेज भेजे गए हैं। इसमें संबोधन के बाद भेजे गए मैसेज में कहा जा रहा है कि नोएडा प्रकरण के बाद सारी जांच एजेंसी उनके पीछे हैं और उनकी संपत्ति पर जांच एजेंसियों की नजर है। जिसको लेकर कानूनी लड़ाई लड़ी जा रही है। वे अपने अकाउंट से लेन-देन नहीं कर सकते, जिस पर इनकम टैक्स ने रोक लगा रखी है, क्या आप से कुछ फाइनेंशियल मदद मिल सकती है। आप वकील के बैंक खाते में कम से कम पांच लाख रुपये जमा करा दें। इसके बाद बैंक खाते की पूरी डिटेल भी मैसेज में डाली गई है।

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र के घटनाक्रम पर बोले कांग्रेसी- मोदी और शाह जीरो टॉलरेंस करप्शन पर रचते हैं नाटक, देखें वीडियो

इस मैसेज के आने के बाद पार्टी के ही कुछ नेताओं द्वारा सोशल मीडिया पर इसके फोटो डालकर कहा जा रहा है कि यह पेज फर्जी है और कोई इसके बहकावे में न आएं। इस बारे में जब पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष बाबू मुनकाद अली से बात की गई तो उनका कहना था कि यह सब पार्टी को बदनाम करने की साजिश है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की है कि उनके बहकावे में कोई न आएं।

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned