अतिक्रमण से परेशान लोगों ने आत्मदाह की दी चेतावनी, बोले- न पुलिस कर रही मदद और न ही जनप्रतिनिधि

Highlights:

-मेरठ में 12 परिवारों के आत्मदाह की चेतावनी से हड़कंप

-मोहल्ले में कब्जे को लेकर चल रही दो पक्षों में तनातनी

-शिकायत के बाद भी दबंगों ने नहीं हटाया कब्जा

-पुलिस और जनप्रनिधियों पर उपेक्षा का आरोप

By: Rahul Chauhan

Published: 13 Jan 2021, 12:19 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। महानगर की एक कालोनी में रहने वाले करीब 12 परिवार वालों ने पहले पलायन और फिर आत्मदाह की धमकी दी है। जिससे प्रशासन में हड़कंप मच गया है। इन सभी परिवार वालों का आरोप है कि शिकायत के बाद भी उनकी गली से अतिक्रमण नहीं हट रहा है और दबंग लोग कब्जा कर रहे हैं। जिसकी शिकायत वे पुलिस-प्रशासन और जनप्रनिधियों से कर चुके हैं। लेकिन किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। दरअसल, मामला थाना पल्लवपुरम क्षेत्र के मोदीपुरम की शिवनगर कालोनी की गली नंबर तीन का है। क्षेत्रवासियों ने मंगलवार को आरोप लगाया कि न तो पल्लवपुरम थाना पुलिस कोई हस्तक्षेप कर रही है और न ही जनप्रतिनिधि सुध ले रहें हैं।

यह भी पढ़ें: श्रीराम मंदिर जन जागरुकता रैली पर पथराव, कई वाहन क्षतिग्रस्त

जानकारी के अनुसार पल्लवपुरम थाना क्षेत्र की शिवनगर कालोनी स्थित गली नंबर तीन में करीब 12 मकान हैं। इन मकानों के मुख्य गेट के सामने 17 फुट चौड़ा रास्ता है। मकान स्वामी यशपाल सिंह, जगत सिंह, धर्मपाल, हेम सिंह, कमलेश, धूम सिंह, दिनेश जैन, वीरेंद्र सिंह आदि का कहना है कि अब खेत स्वामी वीरेंद्र ने आधे से ज्यादा रास्ता काटकर अपने खेत में मिला लिया है। खेत नपवाने की बात कहते हैं तो खेत स्वामी अनसुना करता है। गली में गड्ढे हो गए हैं। नालियां टूट गई हैं। इससे वहां से निकलना भी मुश्किल हो रहा है। पिछले दिनों लोगों ने अपने मकानों की दीवारों पर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर भी चस्पा किए थे। उधर, क्षेत्रीय पार्षद की भी खेत स्वामी बात नहीं मान रहा है।

यह भी देखें: चलती कार में धमाके के साथ लगी भीषण आग

वहीं इस मामले में कैंट विधायक सत्यप्रकाश का कहना है कि दोनों पक्षों से बात की जाएगी। कालोनीवासी उनके कैंप कार्यालय पर भी आएंगे। कोई भी विवाद नहीं होने दिया जाएगा। जो भी बीच का रास्ता निकलेगा, उस पर अमल कराया जाएगा। वहीं एसओ पल्लवपुरम ने बताया कि शिवनगर कालोनी के लोग थाने में मिले थे और उन्होंने अपना पक्ष रखा था। तहसीलदार और पटवारी को मौके पर बुलवाकर समस्या का समाधान कराया जाएगा।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned