कुख्यात का बेटा बोला- अपराध जगत से कोर्इ लेना-देना नहीं, पुलिस करना चाहती है एनकाउंटर

कुख्यात का बेटा बोला- अपराध जगत से कोर्इ लेना-देना नहीं, पुलिस करना चाहती है एनकाउंटर

Sanjay Kumar Sharma | Publish: Mar, 14 2018 11:56:52 PM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

मेरठ के परतापुर डबल मर्डर केस का आरोपी कुख्यात सुशील मूंछ का बेटा टोनी कोर्ट में पेश

 

मेरठ। वेस्ट यूपी का कुख्यात और अपराध जगत में दशकों तक राज करने वाले सुशील मूंछ के बेटे टोनी को अदालत में पेश किया गया। टोनी को भारी सुरक्षा के बीच अदालत में लाया गया। इस दौरान उसने कहा कि उसे जबरन फंसाया गया है। यूपी पुलिस उसका एनकाउंटर करना चाहती है। टोनी ने कहा कि उसका अपराध की दुनिया से दूर-दूर तक कोई लेना देना नहीं है। उसके पिता सुशील मुंछ भी अपराध की दुनिया को अलविदा कर चुके हैं।

यह भी पढ़ेंः जीत के जश्न में सपाइयों में चल गए लात-घूंसे, कपड़े भी फट गए...

डबल मर्डर के आरोपियों को दी थी शरण

सुशील मूंछ अपराध की दुनिया का कुख्यात नाम है और कई साल से उसकी अपराधिक गतिविधियां शांत थी, लेकिन मेरठ में हुए सोहरका डबल मर्डर मामले में उसका नाम सुर्खियों में आया। पुलिस का मानना है कि सोहरका में हुआ मां-बेटे का डबल मर्डर सुशील मूंछ के इशारे पर ही हुआ था। आरोप है कि डबल मर्डर की पूरी प्लानिंग करने वाले सुशील मूंछ और उसका बेटा टोनी ही है।

यह भी पढ़ेंः शिकायतों पर सही काम नहीं किया तो डीएम ने अपने अफसरों का किया यह हाल

मुजफ्फरनगर में हुर्इ थी प्लानिंग

मुजफ्फनगर में ही पूरी प्लानिंग की गई थी। वहीं पर शूटरों को बुलाकर पूरी प्लानिंग समझाई गई थी। हत्या के बाद हुई जांच में परतापुर पुलिस ने सुशील मूंछ और उसके बेटे टोनी को हत्या की साजिश रचने का दोषी पाया था। जांच में यह भी सामने यह तथ्य भी आए कि मुजफ्फरनगर के गांव मथेड़ी निवासी सुशील मूंछ और सोहरका डबल मर्डर के मुख्य आरोपी विनय उर्फ मांगे आपस में दूर के रिश्तेदार हैं। रिश्तेदारी के कारण ही सुशील मूंछ और उसके बेटे टोनी ने मांगे को विकास जाट जैसे शातिर शूटर के अन्य हत्यारों को उपलब्ध कराया था। सुशील मूंछ के बेटे टोनी से जेल में हत्या के दौरान जो फुटेज पुलिस को उपलब्ध हुई थी वह दिखाई गई थी। जिसमें तीसरे हत्यारोपी की पहचान के लिए कहा गया था, लेकिन मूंछ के बेटे टोनी ने तीसरे हत्यारोपी की पहचान नहीं की उसने साफ मना कर दिया कि वह उसे नहीं जानता। वह उससे मिला भी नहीं।

यह भी पढ़ेंः गोरखपुर आैर फूलपुर उप उचुनाव की पटकथा तो मेरठ के मेयर चुनाव ने ही लिख दी थी...

पेशी के दौरान भारी सुरक्षा व्यवस्था

टोनी की पेशी के दौरान कचहरी में भारी सुरक्षा व्यवस्था रही। कचहरी के सभी प्रवेश द्वारों पर पुलिस की भारी संख्या में तैनाती थी। कचहरी आने जाने वाले हर वाहन चालक और आम लोगों की तलाशी ली जा रही थी।

यह भी पढ़ेंः इन महिलाआें ने श्रीदेवी को दी एेसी श्रद्धांजलि, सब देखते रहे गए!

 

 

Ad Block is Banned