दो सगी बहनों की होनी थी शादी, तभी पहुंच गए अधिकारी और रूकवा दी तैयारी, जानिए पूरा मामला

Highlights:

-मवाना क्षेत्र के गांव भैंसा का मामला
-बाल संरक्षण अधिकारी ने जांची दोनों की उम्र
-बाल कल्याण समिति के सामने पेश करने के आदेश

By: Rahul Chauhan

Updated: 30 Jun 2020, 03:32 PM IST

मेरठ। जिले के मवाना थाना क्षेत्र के एक गांव में दो बहनों के शादी की तैयारियां चल रही थी। घर में मंगल गीत गाए जा रहे थे। इतनी देर में आधिकारियों की कई गाड़ियां मौके पर पहुंची और उन्होंने दोनों युवतियों की उम्र जानने के लिए आधार कार्ड मंगवाया। आधार कार्ड के अनुसार दोनों बहने नबालिंग निकली और अधिकारियों ने दोनों की शादी रूकवा दी।

यह भी पढ़ें : अर्धनग्न होकर पैदल बाइक लेकर निकले भीम आर्मी कार्यकर्ता, नजारा देश लोग रह गए हैरान

शादी की सभी तैयारियां धरी रह गई। मौके पर पहुंचे बाल संरक्षण अधिकारी ने सख्त चेतावनी दी और कहा कि अगर नाबालिग की शादी की गई तो उनकेा जेल भेज दिया जाएगा। दोनों बहनों की आधार कार्ड में उम्र 17 और 16 साल मिली। वहीं नाबालिग को बाल कल्याण समिति में पेश करने के आदेश किए।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार ने पेट्रोल पर 23 रु और डीजल पर 28 रु के उत्पाद शुल्क की बढ़ोतरी की: कांग्रेस

बाल संरक्षण अधिकारी दीपिका भटनागर ने बताया कि उनको सूचना मिली कि गांव भैंसा में मंगलवार को दो सगी नाबालिग बहनों की शादी की जा रही है। जिस पर वे मवाना खुर्द पुलिस चौकी के साथ गांव पहुंचीं और जानकारी की। परिजनों ने बताया कि एक लड़की की शादी होनी है। बारात जंधेड़ी से आएगी। परिजनों ने लड़की को बालिग बताया। जिस पर बाल अधिकारी ने उम्र के लिए कोई प्रमाण पत्र पेश करने को कहा। काफी देर बाद परिजनों ने आधार कार्ड पेश किया।

जिसके अनुसार लड़की की उम्र 17 वर्ष मिली। जिस पर दीपिका भटनागर ने लड़की के पिता से लिखित में लिया कि बालिग होने तक शादी नहीं करेंगे। वहीं, नाबालिग को मंगलवार को बाल कल्याण समिति में पेश करने के भी निर्देश दिए। बाल संरक्षण अधिकारी के साथ जिला समन्वयक रोहित कुमार, काउंसलर व सदस्य साथ उपस्थित रहे।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned