पीएसी के जवान बने फरिश्तें, आग और चाय से बचाई बेजुबान की जान

Highlights:

-आवारा कुत्ते की जान बचाने में लगा दी जी जान

-आग का इंतजाम कर मुंह में डाली चाय

-ब्रज वाहन से ले गए पशु अस्पताल

By: Rahul Chauhan

Published: 25 Nov 2020, 02:30 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। आज के समय में जहां सड़क पर पड़े तड़पते इंसान को देखकर लोग तमाशबीन बन जाते हैं और सिर्फ मोबाइल से वीडियो तक ही बनाने में सीमित रहते हैं। वहीं पीएसी के जवान एक बेजुबान जानवर के लिए भगवान बन गए। इन जवानों ने बेजुबान आवारा कुत्ते को बचाने में अपनी जी जान लगा दी। जवानों ने न सिर्फ बेजुबान की जान बचाई बल्कि उसको जानवरों के अस्पताल लेकर गए और वहां डाक्टर से इंजेक्शन भी लगवाया। पीएसी के इन जवानों का मानवीय रूप जिसने भी देखा वहीं इनकी प्रशंसा कर रहा है।

यह भी पढ़ें: 7 लोगों की मौत, प्रतिदिन 150 से ज्यादा लोग हो रहे कोरोना का शिकार

घटना कमिश्नरी चौराहे की है जहां पर पीएसी पीकेट भी मौजूद रहती है। पास में ही एक टयूबबेल है। पीएसी के जवान इसी ट्यूबवेल पर खाने और सुस्ताने के लिए बैठ जाते हैं। यहीं पर ही एक आवारा कुत्ता भी घूमता रहता है। जिसका नाम राकेश रखा हुआ है। पीएसी के जवानों से जो भी रोटी पानी मिलता है उसे ही खाकर राकेश अपना पेट भर लेता है। पीएसी के जवानों से कुत्ते राकेश की इतनी आत्मीयता है कि पीएसी के जवानों के डयूटी पर पहुंचते ही वह उनके पास पहुंच जाता था। लेकिन जब पीएसी के जवान पहुंचे तो राकेश उनको दूसरी अवस्था में ही मिला। राकेश जमीन पर पड़ा अपनी आखिरी सांसें गिन रहा था। जवानों को समझते देर नहीं लगी कि वह ठंड से अकड़ गया है और उसकी किसी भी समय जान जा सकती है। सड़क पर निरीह पड़े राकेश को बचाने के लिए पीएसी के जवान जुट गए।

यह भी पढ़ें: Corona का कहर: शादी में 100 से अधिक लोग शामिल होने पर प्रदेश का पहला मुकदमा दर्ज

पीएसी के जवान आशुवीर ने उसे उठाया और अपने हाथों से मालिश करने लगा। अपने साथी को देखकर अन्य जवान अजीजुर्रहमान भी आ गए और उन्होंने राकेट के पास आग का प्रबंध किया। पीएसी के दूसरे जवान कुत्ते के लिए गर्म चाय बनवाकर लाए और उसका मुंह खोलकर चाय डाली। मुंह में चाय जाते ही और शरीर में गर्माहट आते ही कुत्ते के शरीर में हलचल शुरू हुई। इसके बाद पीएसी के जवान अपने ही वाहन में लेकर उसे जिला पशु चिकित्सालय ले गए। जहां पर चिकित्सक ने उसे इंजेक्शन लगाया। पीएसी के जवानों की बदौलत कुत्ते राकेश की जान बच गए।

चारोंं ओर हो रही जवानों की प्रशंसा

मानवीयता की मिसाल पेश करने वाले इन पीएसी के जवानों की चारों ओर प्रशांसा हो रही है। ऐसे समय में जबकि खाकी को बहुत घृणा की दृष्टि से लोग देखते हैं। वहीं एक बेजुबान की जान बचाकर खाकी ने जो मिसाल पेश की है वह वाकई काबिलेतारीफ है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned