जन सूचना केंद्र में 2500 में तैयार हो रहा था फर्जी प्रमाण पत्र और पासपोर्ट

केंद्र में मिली डीएम और अन्य अधिकारियों की मोहरें। पुलिस ने केंद्र संचालक को किया गिरफ्तार। सैकड़ों की संख्या में फर्जी प्रमाण पत्र और अन्य कागजात बरामद।

By: Rahul Chauhan

Published: 11 Jun 2021, 12:37 PM IST

मेरठ। मेरठ में अब जन सूचना केंद्र में नकली प्रमाण पत्र तैयार करने का मामला प्रकाश में आया है। हरकत में आई पुलिस ने केंद्र संचालक को भारी मात्रा में नकली प्रमाण पत्रों के साथ गिरफ्तार किया है। जन सूचना केंद्र से जिलाधिकारी से लेकर अन्य प्रशासनिक अधिकारियों की फर्जी मोहरें बरामद हुईं हैं। केंद्र में ढाई हजार रुपये में फर्जी चरित्र प्रमाण पत्र से लेकर जाति,आय और जन्म—मृत्यु प्रमाण पत्र तैयार किए जाते थे। पुलिस केंद्र संचालक के अन्य साथियों की तलाश कर रही है।

यह भी पढ़ें: हैलो! '25 लाख की रकम का इंतजाम कर लो, नहीं तो बेटे को उठा लेंगे'

थाना ब्रह्मपुरी पुलिस ने माधवपुरम स्थित एक जनसूचना केंद्र पर छापा मारकर उसके संचालक रमन को पकड़ा है। वह परिवार के साथ माधवपुरम में रहता है। सीओ अमित राय ने बताया कि रमन अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर जिलाधिकारी व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के फर्जी हस्ताक्षर कर चरित्र प्रमाण-पत्र, जाति, आय और जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र तक बना रहा था।

यह भी पढ़ें: किसान जरूर कराएं भूमि की जांच, नहीं तो बंजर हो सकती है आपकी कृषि भूमि

इतना ही नहीं युवक फर्जी पासपोर्ट भी तैयार कर रहा था। मात्र 500 रुपये लेकर ये प्रमाण-पत्र बना दिए जाते थे। रमन ने पुलिस के समक्ष इसकों स्वीकार भी किया है। बकौल सीओ, पड़ताल की जा रही है कि रमन ने अब तक कितने प्रमाण पत्र बनाए हैं और कहां-कहां इनका प्रयोग किया गया है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned