VIDEO: दुष्कर्म के आरोपी ने पीड़िता के भाई को कराया गिरफ्तार, पढ़िए यह सनसनीखेज मामला

खास बातें

  • कार सर्विस सेंटर संचालक पर दर्ज दुष्कर्म का मामला
  • पीड़िता के भाई पर लगाए आरोप, उसके बाद गिरफ्तार
  • सर्विस सेंटर में ही नौकरी करती थी पीड़ित महिला

 

By: sanjay sharma

Published: 05 Sep 2019, 01:08 PM IST

मेरठ। मेरठ में नामी कार सर्विस सेंटर संचालक ने दुष्कर्म पीड़िता के भाई को 50 लाख की रंगदारी मांगने का मुकदमा दर्ज करवा दिया है। पुलिस ने रंगदारी मांगने वाले आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया। उससे पूछताछ की जा रही है। वहीं मामले की जांच के बाद सामने आया कि कार सर्विस सेंटर संचालक पर महिला ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया हुआ है।

यह भी पढ़ेंः प्राधिकरण के बर्खास्त बाबू ने किया ऐसा कारनामा कि एंटी करप्शन टीम ने की बड़ी कार्रवाई, देखें वीडियो

समझौते के लिए डाला दबाव

दुष्कर्म मामले में समझौते का दबाव डालने के लिए सेंटर संचालक द्वारा 50 लाख की रंगदारी मांगने और धमकी देने का मुकदमा दर्ज करवाया जाना बताया जा रहा है। एसपी सिटी डा. एएन सिंह ने बताया कि जिस महिला ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया है वह काफी समय पहले इस सेंटर पर काम करती थी। आरोपी सेंटर मालिक से उसकी नजदीकियां बढ़ी। महिला का आरोप है कि उसको एक चार साल का बच्चा है जो सेंटर मालिक का है। महिला ने कोर्ट में डीएनए टेस्ट की अर्जी लगाई हुई है।

यह भी पढ़ेंः प्लास्टिक और थर्मोकोल के बर्तनों में अब खाना-पीना नहीं, होगा इनका प्रयोग, शासन ने दिए कड़े आदेश

50 लाख रुपये की मांगी रंगदारी

कार सर्विस सेंटर संचालक ने आरोप लगाया कि युवती के भाई ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए 50 लाख रुपये रंगदारी की मांग की है। इस संबंध में उसने एक आडियो क्लिप भी पुलिस को सौंपी है। सेंटर संचालक की तहरीर पर सिविल लाइन थाना पलस ने महिला के भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया और उसको गिरफ्तार कर लिया है। पीड़ित महिला के बयान दर्ज कर उसकी तहरीर और बयान इसी मुकदमे में शामिल कर जांच की जा रही है। जांच में सामने आया है कि दोनों के बीच काफी लंबे समय से विवाद चल रहा है। महिला का आरोप है कि उसके भाई को जबरन फंसाया गया है। पुलिस भी सेंटर संचालक का साथ दे रही है।

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned