Coronavirus: कोरोना से जंग के लिए रिटायर्ड फौजी ने दान की जीवन भर की जमा पूंजी, देश के लोगों से की ये अपील

Highlights

  • मेरठ के कैंट निवासी रिटायर्ड जेसीओ मोहिंदर सिंह मदद के लिए आगे आए
  • जीवनभर की जमा पूंजी 15 लाख 11 हजार रुपये पीएम केअर्स फंड में दी
  • 1971 के युद्ध में जान की बाजी लगाते हुए अपनी एक आंख भी खो दी थी

By: sanjay sharma

Published: 09 Apr 2020, 10:36 AM IST

मेरठ। पीएम केअर्स फंड में मेरठ के रिटायर्ड फौजी पूर्व जेसीओ मोहिंदर सिंह ने अपनी जीवन भर की जमापूंजी और पेंशन के 15 लाख 11 हजार रुपये दान कर दिए। बता दें कि 1971 के युद्ध में मोहिंदर सिंह ने देश के लिए अपनी जान की बाजी लगाते हुए एक आंख भी खो दी थी। पूर्व जेसीआे मोहिंदर सिंह को यह प्रेरणा उन बच्चों से मिली जो अपनी गुल्लक से रुपये दान कर रहे हैं। इस कारण उन्होंने यह कदम उठाया है। अब वह दूसरों के लिए मिसाल बन गए हैं।

यह भी पढ़ेंः मेरठ रेंज के सभी सील हॉटस्पॉट पर पुलिस मुस्तैद, आईजी ने संभाली कमान, उल्लंघन करने वालों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई

रिटायर्ड फौजी मोहिंदर सिंह ने न सिर्फ अपने जीवन की जमा पूंजी दान कर दी बल्कि अपने पूरे परिवार से कहा कि आप सभी भी इस इस कोष में पैसा दें और कोरोना वायरस से लडऩे के लिए देश की मदद करें। मोहिंदर सिंह के आवास पर सदर पुलिस और सभासद पति पहुंचे और उनसे ससम्मान यह पैसा स्वीकार किया। मोहिंदर सिंह के इस जज्बे को प्रशासन ने सराहा और लोगों से इससे प्रेरणा लेने का आह्वान किया है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के खतरे की गंभीरता को समझते हुए उन्होंने यह पैसे प्रधानमंत्री केयर फंड में दिये हैं। जनता कर्फ्यू के दौरान भी उन्होंने थाली बजाकर इसका समर्थन किया था और बाहर जरूरी सेवा में लगे लोगों को धन्यवाद दिया था।

यह भी पढ़ेंः Lockdown: सुबह काम पर पहुंचे सफाई कर्मचारी तो लोगों ने फूल बरसाकर पहनायी माला, हर कोई पड़ गया हैरत में

देशभर में इस वायरस से बचने के लिए लॉकडाउन किया गया है। कोरोना वायरस से प्रभावित हुए गरीब और श्रमिक वर्ग के लोगों की मदद के लिए पीएम केयर नाम का एक फंड भी शुरू किया। इस फंड में कई लोगों ने मदद की है। इस फंड का इस्तेमाल गरीबों और जरूरतमंदों के लिए भोजन, स्वास्थ्य सेवाओं और आवश्यक सुविधाओं के इस्तेमाल के लिए किया जाएगा। रिटायर्ड फौजी ने कहा कि इस समय हर देशवासी का फर्ज है कि वे ऐसे में देश सेवा के लिए आगे आएं।

sanjay sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned