पेरिस और डेनमार्क को हिला चुका है ये बसपा नेता

पेरिस और डेनमार्क को हिला चुका है ये बसपा नेता
yakub qureshi

sandeep tomar | Publish: Jan, 06 2017 04:49:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

बसपा ने मेरठ दक्षिण विस से जिस प्रत्याशी खड़ा किया है, वो अपने बयानों से पेरिस और डेनमार्क तक को हिला चुका है

नोएडा: बहुजन समाज पार्टी ने मेरठ दक्षिण विधानसभा से जो प्रत्याशी खड़ा किया है, वो अपने बयानों से पेरिस और डेनमार्क तक को हिला चुका है। हमेशा चर्चित रहने वाले इस नेता का नाम है हाजी याकूब कुरैशी। आइये आपको इनके बारे में बताते हैं। आखिर ये शख्स है कौन?

मेरठ के बड़े मीट व्यापारियों में एक

हाजी याकूब कुरैशी मेरठ के बड़े मीट कारोबारियों में एक हैं। सबसे पहले याकूब कुरैशी तब चर्चा में आए थे, जब उन्होंने स्लॉटर हाउस बनाने के लिए 100 करोड़ रुपए का ठेका लिया था। वर्ष 2007 में उन्होंने मेरठ शहर सीट से यूपीयूडीएफ के बैनर चुनाव लड़ा और चुनाव जीते। उसके बाद उन्होंने बसपा ज्वाइन कर ली। बसपा से उन्‍हें टिकट ना मिल पाने के कारण उन्‍होंने 2012 में सरधना विधानसभा सीट से रालोद की टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन 50 हजार से ज्यादा वोट पाने के बाद भी हार का सामना करना पड़ा। उसके बाद उन्‍होंने दोबारा से बसपा ज्‍वाइन की है। इस बार वो अपने इलाके मेरठ दक्षिण सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। ये मुस्लिम बाहुल्य इलाका है, जहां वह काफी पॉपुलर भी हैं।

पेरिस हमले में शामिल लोगों की प्रशंसा की थी

जहां पूरी दुनिया पेरिस में मैग्जीन चार्ली हेब्दो पर हुए आतंकी हमले को लेकर सन्न थी। हर ओर 12 लोगों की हत्या की निंदा हो रही थी। वहीं बसपा नेता हाजी याकूब कुरैशी न सिर्फ इस घटना पर खुशी जताई थी बल्कि हत्यारों को 51 करोड़ रुपये का इनाम देने के लिए भी तैयार हो गए थे। यूपी के पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी ने तब कहा था कि जो भी पैगंबर का अपमान करेगा उसे मौत की ही सजा दी जानी चाहिए। रसूल के आशिक उसे सजा दे ही देते हैं। उन्होंने एक अंग्रेजी अखबार से कहा था कि यदि हमलावर मुझसे मांगते हैं तो मैं उन्हें अपने द्वारा घोषित 51 करोड़ रुपये का इनाम देने को तैयार हूं। कुरैशी ने कहा था कि जो भी पैगंबर का अपमान करेगा उसे इसी तरह से सजा दी जाएगी।

कार्टूनिस्ट की हत्या को रखा था इनाम

इससे पहले याकूब कुरैशी ने 2006 में डेनमार्क के एक अखबार में पैगंबर का कार्टून बनाने वाले कार्टूनिस्ट की हत्या पर 51 करोड़ रुपए के इनाम की घोषणा की थी। याकूब ने इस कार्टून की काफी आलोचना की थी। इस बयान के बाद डेनमार्क में काफी हलचल पैदा हो गई थी। कई लोगों के बयान आए थे। काफी बवाल होने के बाद मामला शांत हुआ था। आपको बता दें कि हाजी याकूब कुरैशी ऐसे कई विवादों में सामने आ चुके हैं। वर्ष 2011 में उन्होंने मेरठ में एक पुलिस वाले को थप्पड़ मारा था।

विदेशों तक फैला है कारोबार

हाजी याकूब कुरैशी की अपनी मीट कंपनी है। जिसका नाम अल फहीम मीटेक्‍स प्राइवेट लिमिटेड है। ये फैक्‍ट्री मेरठ स्थित हापुड रोड पर है। कंपनी मीट की सबसे बड़े निर्यातकों में से एक है। जानकारों की मानें तो इनका मीट अरब कंट्री के अलावा चीन, जापान, वियतनाम, बांग्‍लादेश, पाकिस्‍तान आदि देशों में जाता है। अगर बात संपति की करें तो पिछले विधानसभा चुनावों में उन्‍होंने अपनी संपति मात्र 4 करोड़ रुपए से कुछ अधिक बताई थी। वहीं जानकारों के अनुसार इनकी संपति इससे कहीं ज्‍यादा है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned