Monsoon Update: यूपी के इन जिलों में कमजोर पड़ा मानसून, जानिये 15 जुलाई तक कैसा रहेगा मौसम

Highlights
- मौसम विशेषज्ञों के अनुसारइस बार वेस्ट में हल्का रहेगा मानसून

- बारिश के बाद गर्मी से हल्की राहत, लेकिन उमस कर रही परेशान

- एक व दो जुलाई को भी बारिश का अनुमान

By: lokesh verma

Published: 30 Jun 2020, 02:06 PM IST

मेरठ. आसमान में बादल और गर्मी से कुछ निजात मिलने से वेस्ट के लोगों को थोड़ी राहत जरूर मिली है, लेकिन अभी भी उमस भरी गर्मी से लोग परेशान हैं। बता दें कि सोमवार को मेरठ, गाजियाबाद और नाेएडा समेत आसपास के जिलों में हुई बारिश के बाद मंगलवार को आसमान पर बादल छाए रहे, जिसके चलते फिर से बारिश के आसार बन रहे हैं। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार 15 जुलाई तक मानसून का प्रदर्शन सामान्य से कमतर रहेगा। एक व दो जुलाई को भी बारिश का अनुमान है।

बताते चलें कि मानसून औपचारिक रूप से पश्चिमी उत्तर प्रदेश और एनसीआर में पहुंच गया है, लेकिन अभी तक जोरदार बारिश नहीं हुई है। सोमवार शाम को अचानक तेज आंधी के साथ घटाएं घिर आई थीं, जिसके चलते अधिकतम तापमान 35 डिग्री और न्यूनतम तापमान 27.4 डिग्री रहा। वहीं आर्द्रता का अधिकतम प्रतिशत 76 और न्यूनतम प्रतिशत 27.4 डिग्री रहा। कृषि विवि के मौसम केंद्र के प्रभारी डा. यूपी शाही ने बताया कि बुधवार को भी बारिश हो सकती है।

आंधी बारिश से उखड़े पोल गुल हुई बिजली

सोमवार शाम लगभग पांच बजे तेज आंधी चली, जिससे पेड़ की टहनियां टूट गईं। कई स्थानों पर पेड़ बिजली के तारों से टकरा गए। कुछ स्थानों पर पोल गिर गए। इन सबकी वजह से विद्युतापूर्ति ठप हो गई। आंधी के बाद बारिश हुई। बारिश थमने के बाद विद्युतकर्मियों ने पेट्रोलिंग शुरू की, जिससे जहां-जहां दिक्कत थी, उसे सुधार कर आपूर्ति शुरू की गई। कुछ स्थानों पर छह बजे तक बिजली आ गई, पर अधिकतर स्थानों पर आठ बजे या उसके बाद आपूर्ति सुचारु हुई। कुछ क्षेत्र ऐसे भी रहे, जहां देर रात तक भी आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी।

मिली गर्मी से राहत

तेज आंधी के साथ आई बारिश ने गर्मी से थोड़ी निजात दिला दी है। तेज आंधी से कई जगह पेड़ धराशायी हो गए हैं। इससे होर्डिग और बैनर भी गिर गए। मौसम विशेषज्ञों ने आगामी दिनों में मानसून के जोर न पकड़ने की आशंका जताई है। बीच-बीच में बारिश होती रहेगी। हालांकि उमसभरी गर्मी का सितम जारी रहेगा। तेज आंधी के चलते शहर सर्राफा के पास लाला के बाजार में मंदिर के परिसर में खड़ा विशाल पीपल का पेड़ गिर पड़ा। पेड़ सामने के भगवत दयाल शर्मा के मकान में गिरा। जोरदार आवाज के भरभराकर पेड़ के मकान पर गिरने से छत क्षतिग्रस्त हो गई।

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned