Lockdown 4 में ज्यादा छूट दी तो भारत कम्युनिटी ट्रांसमिशन के लिए तैयार रहे: विशेषज्ञ

- Coronavirus: भारत में दो दिन बाद यानी 18 मई से लॉकडाउन ( Lockdown 4.0 ) का चौथा चरण शुरू हो जाएगा। सरकार लॉकडाउन 4 में कुछ और रियायतें देने की तैयारी में है।
-Coronavirus Outbreak एक प्रख्यात स्वास्थ्य विशेषज्ञ ने आगाह किया है कि लॉकडाउन 4 में ज्यादा ढील देने के साथ ही भारत कम्युनिटी ट्रांसमिशन ( Community Transmission in India ) के लिए तैयार रहे।
- Covid-19 India: उन्होंने साफ तौर पर चेताया कि अभी लॉकडाउन में ज्यादा छूट देने पर कोरोना वायरस ( Covid-19 ) का संक्रमण बड़े पैमाने पर फैल सकता है।

नई दिल्ली।
Coronavirus: भारत में दो दिन बाद यानी 18 मई से लॉकडाउन ( Lockdown 4.0 ) का चौथा चरण शुरू हो जाएगा। सरकार लॉकडाउन 4 में कुछ और रियायतें देने की तैयारी में है। एक प्रख्यात स्वास्थ्य विशेषज्ञ ने आगाह किया है कि लॉकडाउन 4 में ज्यादा ढील देने के साथ ही भारत कम्युनिटी ट्रांसमिशन ( Community Transmission in India ) के लिए तैयार रहे। उन्होंने साफ तौर पर चेताया कि अभी लॉकडाउन में ज्यादा छूट देने पर कोरोना वायरस ( Covid-19 ) का संक्रमण बड़े पैमाने पर फैल सकता है।

पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया के प्रेसिडेंट, प्रोफेसर के श्रीनाथ रेड्डी ( Srinath Reddy ) ने कहा है कि अभी भारत कम्युनिटी ट्रांसमिशन से बचा हुआ हैं। इसका कारण ज्यादातर केस एक ही जगह पर सीमित हैं। ज्यादातर लोग विदेशों से आए यात्री के संपर्क में आने से संक्रमित हुए हैं। इसलिए अभी यह स्टेज-2 है।

अब शुरू होगी टैक्सी, बस और हवाई सेवाएं, 18 मई से Lockdown 4 में जिंदगी होगी थोड़ी आसान

lockdown_03.jpg

लेकिन, हमें इस बात का ध्यान रखना होगा कि दुनिया के ज्यादातर देशों में यह स्थिति उत्पन्न हो चुकी है और भारत को भी इसके लिए सचेत रहना चाहिए। ऐसी स्थिति में अगर आवाजाही में छूट मिलती है तो निश्चित तौर पर संक्रमण का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाएगा।

स्वास्थ्य एक्सपर्ट के आगाह के बाद लॉकडाउन 4 में ज्यादा छूट मिलने की उम्मीदों पर पानी फिर सकता है। कुछ विशेषज्ञ पहले ही वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन ( तीसरे स्टेज ) शुरू होने का दावा कर चुके हैं, लेकिन आधिकारिक रूप से सरकार इसे खारिज करती रही है।

स्टडी में हुआ बड़ा खुलासा, फ्लाइट शुरू होते ही और तेजी से फैलेगा Coronavirus, देश के 15 एयरपोर्ट Danger Zone में

lockdown_04.jpg

कम्युनिटी ट्रांसमिशन का बढ़ा खतरा
प्रोफेसर के श्रीनाथ रेड्डी ने आगाह किया कि हमें यह पता होना चाहिए कि कई देशों को बड़े पैमाने पर कम्युनिटी ट्रांसमिशन का सामना करना पड़ा है। भारत में तेज गति से मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। ऐसे में इसके लिए तैयार रहना चाहिए और इसे रोकने के लिए और कड़े कदम उठाने चाहिए। बता दें कि प्रोफेसर के श्रीनाथ रेड्डी एम्स में कार्डियोलॉजी विभाग के प्रमुख रह चुके हैं और हार्वर्ड के एपिडमिलॉजी में प्रोफेसर भी है।

lockdown_4_2.jpg

लॉकडाउन हटते ही तेजी से बढ़ेगा संक्रमण
प्रोफेसर ने कहा कि भारत में कोरोना का संक्रमण अन्य देशों के मुकाबले काफी नियंत्रण में है। इसमें सबसे बड़ा कारण लॉकडाउन है। उन्होंने सख्त चेताया है कि अगर लॉकडाउन हटाया गया तो कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ेगा। साथ ही लॉकडाउन में ज्यादा ढील देने पर लोगों की आवाजही बढ़ जाएगी, ऐसे में वायरस का ट्रांसमिशन निश्चित तौर पर बढ़ने का खतरा है। इसलिए कई तरह की सावधानियां बरतनी पड़ेंगी।

lockdown_4_1.jpg

भीड़भाड़ और गांवों में रोकना होगा मुश्किल
लॉकडाउन में ज्यादा छूट मिलने के बाद ज्यादा स्थिति भीड़भाड़ वाले इलाके और गांवों में बिगड़ सकती है। यहां स्थिति बेकाबू होगी तो रोकना बेहद मुश्किल हो जाएगा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में रियायत की स्थिति में लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनकर रहना होगा। यह एक अच्छी बात है कि भारत में कोरोना का संक्रमण काबू में है।

भारत में कोरोना का बढ़ता ग्राफ
भारत में कोरोना का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है। अब तक 85940 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। जबकि, 2752 लोगों की मौत हो चुकी है। यह आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। बता दें कि लॉकडाउन की तीसरा चरण 17 मई को समाप्त हो जाएगा। वहीं, 18 मई से लॉकडाउन के चौथे की शुरुआत होगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned