दिल्ली के 51 लाख लोगों को पहले दौर में लगेगी कोरोना वैक्सीन, ऐसे मिलेगी जानकारी

  • दिल्ली की टीकाकरण की रणनीति पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की बैठक।
  • केंद्र सरकार की प्राथमिकता सूची के मुताबिक 51 लाख लोगों की पहचान की गई।
  • दिल्ली में कोविड-19 वैक्सीन की 74 लाख खुराक की भंडारण क्षमता का निर्माण।

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि प्रदेश में 51 लाख लोगों को पहले दौर में कोरोना वायरस का टीका लगाया जाएगा। दिल्ली सरकार ने केंद्र की "प्राथमिकता श्रेणी" के तहत राजधानी में कोविड-19 टीकाकरण पाने वाले व्यक्तियों का चुनाव किया है।

एक्सपर्ट्स की चेतावनीः कोरोना वैक्सीन के दो माह बाद तक ना लगाएं शराब को हाथ

1.15 करोड़ वैक्सीन की स्टोरेज फैसिलिटी

इस संबंध में एक ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वर्तमान में दिल्ली ने कोविड-19 वैक्सीन की 74 लाख खुराक के लिए भंडारण क्षमता का निर्माण और व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि शहर की भंडारण क्षमता को एक सप्ताह में 1.15 करोड़ खुराक तक बढ़ाया जाएगा।

कैसे होंगे रजिस्टर

केजरीवाल ने आगे कहा कि पहचान किए गए 51 लाख लोगों में से प्रत्येक को पंजीकृत किया जा रहा है और उस व्यक्ति के मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस भेजा जाएगा, जो उसे टीकाकरण की तारीख, समय और स्थान के बारे में सूचित करेगा।

उन्होंने कहा, "दिल्ली में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के हालात में सुधार हुआ है। पॉजिटिविटी रेट अब 1 फीसदी से नीचे आ गया है। लेकिन, अब सभी को वैक्सीन का इंतजार है। दिल्ली सरकार ने सभी व्यवस्थाएं की हैं और केंद्र सरकार से वैक्सीन की खुराक प्राप्त करने, इसे स्टोर करने और पहचान किए गए लोगों को लगाने के लिए तैयार है।"

नए वायरस स्ट्रेन के खिलाफ Corona Vaccine होगी कितनी कारगर, सामने आया जवाब

बता दें कि दिल्ली की टीकाकरण की रणनीति पर स्वास्थ्य अधिकारियों और अन्य हितधारकों के साथ उच्च स्तरीय बैठक करने के बाद केजरीवाल ने मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की "प्राथमिकता श्रेणी" को तीन भागों में तोड़ दिया गया है: स्वास्थ्य कार्यकर्ता, फ्रंटलाइन वर्कर्स और पहले से बीमारी वाले और बुजुर्ग।

मुख्यमंत्री ने कहा, "हमारे स्वास्थ्यकर्मी जैसे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिक स्टाफ इत्यादि दिल्ली में वैक्सीन हासिल करने वाले पहले व्यक्ति होंगे। हमने 3 लाख स्वास्थ्य कर्मचारियों की पहचान की है जिन्हें टीका लगाया जाएगा।"

इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स होंगे, जिसमें पुलिस, सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स और म्युनिसिपल वर्कर्स शामिल होंगे। ऐसे व्यक्तियों की संख्या 6 लाख है।

इस तरह डाउनलोड करें CoWIN ऐप और कोरोना वैक्सीन के लिए करें प्री-रजिस्टर

तीसरी श्रेणी उन लोगों की है, जिनकी आयु 50 वर्ष या उससे अधिक है और 50 वर्ष से कम आयु वाले हैं जिन्हें पहले से कोई बीमारी है। तीसरी श्रेणी के अंतर्गत 42 लाख व्यक्ति हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को वैक्सीन की दो खुराक दी जाएंगी और दिल्ली में खुराक की कुल अनुमानित आवश्यकता 1.02 करोड़ होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीन की खुराक का प्रबंध करने के लिए पर्याप्त केंद्र या शिविर लगाए जाएंगे। केजरीवाल ने कहा, "यदि कोई भी दुष्प्रभाव पैदा होता है, तो हमारे पास ऐसे लोगों के इलाज के लिए विशेषज्ञों की टीम भी तैयार है।"

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned