महाराष्ट्र में कोरोना संकट के बीच स्वास्थ्य मंत्री का चौंकाने वाला बयान, बताया- अब बची सिर्फ इतनी खुराक

महाराष्ट्र में Coronavirus संकट के बीच स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे का बड़ा बयान, बताया पूरे प्रदेश में कोरोना टीके की किल्लत

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( Coronavirus in Maharashtra ) का खतरा लगातार बढ़ रहा है। खास तौर पर महाराष्ट्र में हालात काफी चिंताजनक बने हुए हैं। देश में सबसे ज्यादा नए केस इसी राज्य से सामने आ रहे हैं। वहीं देश की आर्थिक राजधानी से इस बीच एक और बड़ी खबर सामने आई है।

दरअसल कोरोना संकट से निपटने के लिए सबसे ज्यादा जोर कोरोना वैक्सीनेशन पर दिया जा रहा है, ताकि जल्द से जल्द इसे काबू किया जा सके। लेकिन मुंबई में कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर बड़ी खबर ने हर किसी की चिंता बढ़ा दी। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि राज्य में वैक्सीन की ज्यादा डोज उपलब्ध नहीं है।

यह भी पढ़ेँः देश में Corona की दूसरी लहर ने फिर तोड़ा रिकॉर्ड, एक दिन में आए डराने वाले केस

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- कई सारे वैक्सीनेशन सेंटर पर पर्याप्त डोज नहीं है और लोगों को कमी के कारण वापस भेजना पड़ रहा है। फिलहाल हमारे पास 14 लाख वैक्सीन की डोज है जो 3 दिन में खत्म हो जाएगी।
हमने हर सप्ताह के लिए 40 लाख वैक्सीन डोज की मांग की है। 'मैं ये नहीं कह रहा हूं कि केंद्र सरकार हमें वैक्सीन नहीं दे रही है, लेकिन यह काफी धीमी है।'

मुंबई में भी किल्लत
मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने भी इस बात का खुलासा करते हुए कहा है कि मुंबई में सिर्फ तीन दिनों के लिए वैक्सीन बची है।

मुंबई में लगातार कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं। लेकिन इससे भी ज्यादा चिंता बढ़ाने वाली बात यह है कि यहां कोरोना के टीके सिर्फ तीन दिन तक के ही बचे हैं।

मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर के मुताबिक मुंबई में मौजूदा समय में कोविशिल्ड और कोवैक्सीन ये दोनों मिलाकर सिर्फ 1 लाख 85 हजार डोज बचे हैं।

जबकि मुंबई को मिलने वाली वैकसीन की अगली खेप 15 अप्रैल के बाद आएगी। पेडणेकर के मुताबिक आने वाले तीन दिन में वैक्सीन की खुराक कम पड़ जाएंगी।

केंद्र सरकार को इस संबंध में पत्र भी लिखा गया है और दूसरे माध्यमों से भी केंद्र सरकार से संपर्क कर जल्द से जल्द वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ाने की मांग की जा रही है।

मुंबई में हर रोज दिए जा रहे 50 हजार डोज
मुंबई में फिलहाल 108 वैक्सीनेशन सेंटर हैं। मुंबई में हर रोज 50 हजार लोगों को वैक्सीन के डोज दिए जा रहे हैं। मुंबई के जंबो कोविड सेंटरों में दिन में डेढ़ से दो हजार वैक्सीन के डोज दिए जा रहे हैं।

मेयर के मुताबिक फिलहाल कोविशिल्ड वैक्सीन के 1 लाख 76 हजार 540 डोज बचे हैं, जबकि कोवैक्सीन के 8 हजार 840 डोज बचे हैं।

यही वजह है कि आने वाले 2 से 3 दिनों में मुंबई में वैक्सीन की किल्लत हो सकती है। मेयर ने बताया कि मुंबई को फिलहाल 8 से 10 लाख डोज की जरूरत है। इनमें से 5 से 6 लाख डोज का रिजर्व भंडार रखना जरूरी है।
पेडणेकर की माने तो पांच लाख से कम डोज रिजर्व रखे गए तो इसका परिणाम वैक्सीनेशन प्रोग्राम पर पड़ सकता है।

यह भी पढ़ेँः Delhi में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच हाईकोर्ट का बड़ा आदेश, मास्क पहनने को लेकर कही ये बात

पुणे में निगम ने सेना ने मांगी मदद
मुंबई के साथ-साथ पुणे में कोरोना का कहर जारी है। यहां कोरोना के नए मामलों के बढ़ने के कारण अस्पतालों में बेड कम पड़ने लगे हैं। यहां मरीज बेड के लिए इंतजार कर रहे हैं. इस बीच पुणे के एक अस्पताल ने तीन होटलों को किराए पर लिया है।

आपको बता दें कि पुणे शहर में बीते 15 दिनों से रोज 4 हजार के करीब कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। इतना ही नहीं हर दिन औसतन 25 से ज्यादा लोगों की जान भी जा रही है।

कई अस्पताल की तरफ से मरीजों को बेड नहीं होने की बात भी कही जा रही है, जिससे लोगों में डर का माहौल है।
वहीं नगर निगम ने सेना से मदद मांगी है। पुणे स्थित सेना के अस्पताल में 335 बिस्तर और 15 वेंटिलेटर हैं। ऐसे में पुणे म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने सेना से अस्पताल के बिस्तर और वेंटिलेटर मुहैया कराने की अपील की है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned