हैदराबाद गैंग रेप: एनकाउंटर पर भिड़े IPS और IAS, एक ने कहा- आपसे इसकी उम्मीद नहीं थी, तो दूसरे ने कहा- आप पूर्वाग्रह से पीड़ित हैं

  • IPS डी रूपा के ट्वीट ने किया था एनकाउंटर के बाद ट्वीट
  • IAS शरण ने रिट्वीट कर निराशा जाहिर की थी
  • इसका जवाब भी शरण को चौंकाने वाला मिला

नई दिल्‍ली। हैदराबाद गैंगरेप और हत्‍या के आरोपियों का एनकाउंटर होने के बाद से देशभर में सियासी हलचल तेज है। इस घटना को जहां एक तबका सही ठहरा रहा है तो वहीं दूसरी ओर लोगों का मानना है कि आरोपियों को अदालत का सामना करना चाहिए था। लेकिन इस मुद्दे पर माइक्रोब्लॉगिंग साइट टि्वटर पर एक आईपीएस और आईएएस अधिकारी के बीच कहासुनी वर्ड्स वार तक पहुंच गई।

Winter Session: CAB पर मोदी सरकार ने कसी कमर, जानें कैसे?

दरअसल, 6 दिसंबर को हैदराबाद पुलिस द्वारा एनकाउंटर के बाद आईपीएस डी रूपा ने ट्वीट किया कि परित्राणाय साधूनां विनाशाय च दुष्कृताम्‌ । धर्मसंस्थापनार्थाय सम्भवामि युगे युगे ॥ इस ट्वीट के जवाब में छत्तीसगढ़ में तैनात IAS अधिकारी अवनीश शरण ने भी ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- ' मैम यह आप जैसे एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से अपेक्षित नहीं था। माफ कीजिए!

Delhi Horrific Fire: देखते ही देखते डेथ चैंबर में तब्‍दील हो गया अवैध फैक्ट्रियों का इलाका अनाज

IPS डी रूपा का जवाब- यह आपके पूर्वाग्रह को दर्शाता है

इसके बाद डी रूपा ने एक और ट्वीट कर IAS शरण को जवाब दिया। उन्होंने लिखा कि यह संस्कृत के विरुद्ध आपके पूर्वाग्रह को दर्शाता है। इसमें धर्म का अर्थ पवित्रता है, धर्म नहीं। कई पुलिस संगठनों के आदर्श वाक्य दुष्टा शिक्षक, शिष्ट रक्षक है जिसका अर्थ वही है जो इस कविता में कहा गया है। और, मैंने इसे किसी भी चीज से टैग या लिंक नहीं किया है। सत्यमेव जयते!

Tripura Gang Rape: 2 महीनों तक गैंगरेप के बाद प्रेमी ने मां के साथ मिलकर युवती को किया

आपको बता दें कि हैदराबाद में पशु-चिकित्सक के सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए चार आरोपी शुक्रवार सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में मार गिराया था। साइबराबाद पुलिस आयुक्त वीसी सज्जनर ने बताया कि चारों आरोपी पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए। मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। उसके बाद यह घटना दुनिया भर में चर्चा का और बहस का विषय बना हुआ है। खासकर सोशल साइट्स पर इस बात की सबसे ज्‍यादा चर्चा है।

... तो इस वजह से हुई दिल्‍ली की भीषण अग्निकांड में 43 लोगों की मौत?

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned