scriptIAF Day : Why Air Force Day is celebrated every year on 8 October, know its importance | IAF Day : 8 अक्टूबर को हर साल क्यों मनाया जाता है वायुसेना दिवस, जानें इसकी अहमियत | Patrika News

IAF Day : 8 अक्टूबर को हर साल क्यों मनाया जाता है वायुसेना दिवस, जानें इसकी अहमियत

  • वायुसेना दिवस हर साल गाजियाबाद में हिंडन बेस पर मनाया जाता है।
  • इस मौके पर IAF के प्रमुख और तीनों सशस्त्र बलों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद होते हैं।
  • भारतीय वायुसेना पर हवाई सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी है।

नई दिल्ली

Updated: October 08, 2020 09:43:40 am

नई दिल्ली। आज भारतीय वायुसेना की 88वी की वर्षगांठ ( IAF Day ) है। हर साल की तरह इस बार भी गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पर यह दिवस धूमधाम मनाया जा रहा है। इस बार आईएएफ डे पर आकर्षण का केंद्र रफाल लड़ाकू विमान ( Rafale Fighter Zets ) है।
IAF Day
भारतीय वायुसेना पर हवाई सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी है।
वायुसेना दिवस ( IAF Day ) पर हिंडन एयरबेस पर आयोजित कार्यक्रम में IAF के प्रमुख और तीनों सशस्त्र बलों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद होते हैं। इस अवसर पर भारतीय वायुसेना के पायलटों द्वारा विभिन्न विमानों द्वारा शानदार एयर शो प्रदर्शित किया जाता है।
क्यों मनाया जाता है यह दिवस?
भारतीय वायुसेना दिवस आयोजित समारोह में सबसे महत्वपूर्ण पुराने विमानों का शानदार प्रदर्शन शामिल होता है। भारतीय वायुसेना दिवस राष्ट्रीय सुरक्षा के किसी भी संगठन में आधिकारिक और आधिकारिक रूप से भारतीय वायुसेना के प्रति लोगों को जागरूक करने और हवाई सीमा की रक्षा के प्रति प्रतिबद्धता जाहिर करने के लिए मनाया जाता है।
अब बिहार में बड़े भाई की भूमिका में नहीं रहे Nitish Kumar, जानें कैसे?

8 अक्टूबर को ही क्यों?

दरअसल, इंडियन एयरफोर्स आधिकारिक तौर पर ब्रिटिश साम्राज्य द्वारा 8 अक्टूबर, 1932 को स्थापित की गई थी। भारतीय वायुसेना तीन भारतीय सशस्त्र बलों हवाई शाखा है। आईएएफ का प्राथमिक मिशन संघर्ष के समय में भारतीय हवाई क्षेत्र को सुरक्षित रखना है। हवाई गतिविधियों का तत्परता और प्रतिबद्धता के संचालन करना है।
पहली बार 1933 में भरी थी उड़ान

ब्रिटिश शासनकाल में IAF ने पहली एसी उड़ान 1 अप्रैल, 1933 को भरी थी। उस समय IAF को 'रॉयल इंडियन एयर फोर्स' कहा जाता था। देश आजाद होने के बाद 1950 सरकार द्वारा इसका नाम रॉयल इंडियन एयर फोर्स से बदलकर भारतीय वायुसेना कर दिया गया। इसलिए हर साल 8 को आईएएफ डे के रूप में मनाया जाता है।
चिराग पासवान को JDU विधायक ने दी चुनौती, कहा - हिम्मत है तो बड़हरिया से लड़कर दिखाएं चुनाव

73 साल में 5 युद्ध लड़ चुकी है आईएएफ

1947 में देश आजाद होने के बाद से भारतीय वायुसेना 5 युद्ध में शामिल हो चुकी है। इनमें पाकिस्तान के खिलाफ 1948, 1965, 1971 और 1999 शामिल है। 1962 में चीन के खिलाफ भी भारतीय वायुसेना एक युद्ध लड़ चुकी है। भारतीय वायुसेना के अन्य प्रमुख ऑपरेशनों में ऑपरेशन विजय, ऑपरेशन मेघदूत, ऑपरेशन कैक्टस, ऑपरेशन पूमलाई, बालाकोट एयर स्ट्राइक शामिल हैं।
इसके अलावा भारतीय वायुसेना संयुक्त राष्ट्र शांति स्थापना कार्यों में भी सहयोग कर चुकी है। इतना ही नहीं भारतीय वायुसेना बांग्लादेश स्वंतत्रता संग्राम की लड़ाई में अहम भूमिका निभा चुकी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीउदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांडः कानपुर से आतंकी कनेक्शन, एनआईए की टीम जल्द जा कर करेगी छानबीनAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.