इस सदी फिर से आर्थिक शक्तियां बनेंगे भारत और चीन : मोदी

इस सदी फिर से आर्थिक शक्तियां बनेंगे भारत और चीन : मोदी

Mohit sharma | Publish: Oct, 12 2019 01:17:57 PM (IST) | Updated: Oct, 12 2019 01:21:23 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

- चेन्नई समिट से दोनों देशों के बीच सहयोग का नया दौर होगा शुरू
- समिट में स्वागत टिपण्णी

चेन्नई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा पिछले दो हजार सालों के अधिकांश काल खंड में भारत और चीन दुनिया की प्रमुख शक्तियां रही हैं।

अब इस शताब्दी में हम फिर से साथ-साथ उस स्थति को प्राप्त कर रहे हैं।

उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और प्रतिनिधिमंडल का स्वागत करते हुए तमिल में वणक्कम कहा और आतिथ्य हासिल होने पर प्रसन्नता जताई।

चंद्रयान-2: धरती पर समृद्धि का द्वार खोल सकता है इसरो का यह मिशन, रच जाएगा इतिहास

चंद्रयान-2: चांद पर हीलियम-3 को तलाशने गया था लैंडर विक्रम, पूरी दुनिया की ऊर्जा जरूरत हो सकती है पूरी

मोदी ने पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ़ चीन की स्थापना की 70वीं वर्षगांठ पर बधाई देते हुए कहा तमिलनाडु राज्य और ऐतिहासिक शहर चेन्नई सदियों से भारत और चीन के बीच गहरे सांस्कृतिक और व्यापारिक आदान प्रदान का साक्षी रहा है।

उनको खुशी है कि उन्हें इस सांस्कृतिक धरोहर के कुछ सर्वोत्कृष्ट उदाहरणों से परिचित कराने का गौरव मिला।

ISRO को चांद पर महत्वपूर्ण तत्व होने की मिली जानकारी, चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर ने साझा किया डाटा

चंद्रयान-2: चांद पर निकला दिन, सूरज की रोशनी लैंडर विक्रम में डालेगी नई जान!

पिछले दो हजार सालों के अधिकाँश काल खंड में भारत और चीन दुनिया की प्रमुख शक्तियां रही हैं। अब इस शताब्दी में हम फिर से साथ-साथ उस स्थति को प्राप्त कर रहे हैं।

मोदी ने कहा वुहान समिट की भावनाओं से हमारे संबंधों को नया वेग और विश्वास मिला है। आज के चेन्नई विजन से दोनों देशों के बीच सहयोग का नया दौर शुरू होगा।

रिपोर्ट: चांद पर इस लिए नहीं मिटते इंसानों के कदमों के निशान, जाने क्या है रहस्य

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned