जामा मस्जिद से गिरफ्तार हुए आतंकी ने कहा- पूरी दुनिया में फैलाना चाहते हैं कट्टरपंथ

जामा मस्जिद से गिरफ्तार हुए आतंकी ने कहा- पूरी दुनिया में फैलाना चाहते हैं कट्टरपंथ

जम्मू-कश्मीर इस्लामिक स्टेट्स से जुड़े इन आतंकियों में से एक ने कहा कि वो पूरी दुनिया में कट्टरपंथ फैलाना चाहते हैं।

नई दिल्ली। दिल्ली में लाल किले के पास स्थित जामा मस्जिद बस स्टॉप से गुरुवार को गिरफ्तार किए गए दो आतंकियों ने अपने इरादों का खुलासा किया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के मुताबिक कथित तौर पर जम्मू-कश्मीर इस्लामिक स्टेट्स से जुड़े इन आतंकियों में से एक ने कहा कि वो पूरी दुनिया में कट्टरपंथ फैलाना चाहते हैं। उल्लेखनीय है कि इन आतंकियों के पास से उत्तर प्रदेश से खरीदे गए हथियार थे, जिन्हें दिल्ली से कश्मीर ले जाया जाना था।

यह भी पढेंः बेगूसराय मॉब लिंचिंग केस में बड़ा खुलासा, 5 हजार लोगों को सामने हुई थी 3 लोगों की हत्या

आतंकियों के पास से वीडियो, नोटबुक भी बरामद

गिरफ्तार आतंकियों के नाम जमशेद जहूर पॉल और परवेज राशिद लोन उर्फ शाहिद बताए गए थे। जांच टीम के हवाले से लिखी गई रिपोर्ट्स के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले के रहने वाले दोनों संदिग्ध आतंकी बेहद कट्टर हैं और उनके पास से जब्त किए गए फोन में वीडियो हैं। उन्होंने कहा कि कुछ नोटबुक भी जब्त की गई हैं, जिनकी पुलिस जांच कर रही है।

यह भी पढ़ेंः कोहेन ने की स्टोर्मी डेनियल के साथ हुए सौदे को रद्द करने की कोशिश, विपक्ष वकील ने लगाया ये आरोप

शोपियां एनकाउंटर में मारा गया था लोन का भाई

स्पेशल सेल के डिप्टी कमिश्नर प्रमोद सिंह कुशवाहा ने बताया कि परवेज ने उत्तर प्रदेश के अमरोहा से सिविल इंजीनियरिंग में बीटेक किया था और गजरौला से एमटेक कर रहा था। सितंबर 2016 में उसका भाई फिरदौस हिज्बुल मुजाहिदीन से जुड़ा और उसके बाद आईएसजेके में शामिल हो गया था जो इस साल शोपियां एनकाउंटर में मारा गया था। बताया जा रहा है कि उसी की मौत से प्रभावित होकर लोन ने आतंक का रास्ता चुन लिया।

यह भी पढ़ेंः बीजेपी विधायक राम कदम पर दर्ज हुआ केस, लड़कियों को लेकर दिया था बेहद आपत्तिजनक बयान

Ad Block is Banned