डॉग्स के भौंकने और शौचालय की बदबू से परेशानी में लालू, पेइंग वार्ड में शिफ्ट करने की मांग

डॉग्स के भौंकने और शौचालय की बदबू से परेशानी में लालू, पेइंग वार्ड में शिफ्ट करने की मांग

लालू प्रसाद यादव का उपचार राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में चल रहा है।

रांची। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले में सजा काट रहे है। लालू का उपचार राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में चल रहा है। खबर है कि लालू प्रसाद यादव रिम्स में कुत्तों के भौंकने से परेशान हैं और खासे नाराज भी नजर आ रहे हैं।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लालू प्रसाद यादव की शिकायत है कि श्वानों के भौंकने के कारण रात्रि में उनकी नींद बार-बार खुल जाती है। उन्होंने मांग की है कि उन्हें अस्पताल के नए पेइंग वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाए।

डॉक्टरों की कड़ी निगरानी में लालू प्रसाद यादव,किडनी फंक्शन पर रखी जा रही है विशेष तौर पर नजर


शौचालय की बदबू से भी परेशानी
बता दें कि लालू प्रसाद रिम्स के सुपर स्पेशलिस्ट कॉर्डियोलॉजी वार्ड में भर्ती हैं। पांच सदस्यीय डॉक्टरों की टीम उनका इलाज कर रही है। इमारत का परिसर खुला हुआ है। कैंपस के पास ही पोस्टमार्टम हाउस भी है। यहां दिन-रात आवारा डॉग्स जमा रहते हैं।स्थानीय व्यक्ति का कहना है कि रात में यहां 10 से 20 डॉग्स देखे जा सकते हैं। वे अक्सर रात में एक साथ भौंकते हैं। उनके भौंकने से मरीजों को दिक्कत होती हैं। उधर मीडिया रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि लालू प्रसाद यादव शौचालय की बदबू से भी परेशान हैं। उनके करीबी भोला यादव का कहना है कि लालू प्रसाद यादव डॉग्स के भौंकने के अलावा शौचालय की बदबू से परेशान हैं।उन्होंने भी लालू को पेइंग वार्ड में शिफ्ट करने की वकालत की है। आप को बता दें कि आज लालू की मेडिकल जांच होगी। गुरुवार और शुक्रवार को जांच के लिए उनके खून का नमूना लिया गया। शनिवार को कुछ जांच रिपोर्ट में उनके शरीर में इन्फेक्शन मिला। उल्लेखनीय है कि रिम्स के निदेशक आरके श्रीवास्तव के निर्देश पर डॉक्टरों की टीम गठित की गई है। इसमें मेडिसिन, कार्डियोलॉजी, यूरोलॉजी, आंख और सर्जरी के डॉक्टरों को शामिल किया गया है। मेडिसिन से डॉ. उमेश प्रसाद, कॉर्डियोलॉजी से डॉ. प्रकाश कुमार, यूरोलॉजी से डॉ. अरशद जमाल, आंख के डॉ. वीबी प्रसाद और सर्जरी से आरजी बाखला लालू प्रसाद की देखरेख में जुटे हैं। रिम्स के अधीक्षक विवेक कश्यप टीम की अगुवाई कर रहे हैं। जरूरत पड़ने पर एशियन हार्ट इंस्टिट्यूट, मुंबई के डॉक्टर से भी सलाह ली जाएगी। गौरतलब है कि लालू प्रसाद एक साथ कई बीमारियों से जुझ रहे हैं और मेडिकल बोर्ड से रिपोर्ट मिलने के बाद ही उनके रिम्स में भर्त्ती रहने या वापस जेल भेजे जाने के संबंध में निर्णय लिया जा सकेगा।

Ad Block is Banned