प्रधानमंत्री मोदी बोले- चौथी औद्योगिकी क्रांति में भारत का योगदान अद्भुत और चौंकाने वाला होगा

प्रधानमंत्री मोदी बोले- चौथी औद्योगिकी क्रांति में भारत का योगदान अद्भुत और चौंकाने वाला होगा

prashant jha | Publish: Oct, 11 2018 08:05:20 PM (IST) | Updated: Oct, 11 2018 08:05:21 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले चार साल में सरकार ने औद्योगिक क्रांति के लिए भारत को तैयार करने के लिए कई अहम पहल की ।

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को चौथी औद्योगिकी क्रांति के सेंटर के उद्घाटन मौके पर कहा कि चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत पूरे विश्व में चौंकाने वाला भूमिका निभाएगा। पीएम मोदी ने कहा कि तकनीकों के बीच बैलेंस बनाना चौथी औद्योगिक क्रांति का आधार बन रहा है। ऐसी परिस्थितियों में टोक्यो बीजिंग और सैन फ्रांसिस्को के बाद भारत में इस महत्वपूर्ण सेंटर का खुलना, भविष्य की असीम संभावनाओं के द्वार खोलता है। पीएम मोदी ने कहा कि जब पहली औद्योगिक क्रांति हुई, तो भारत आजाद नहीं था। दूसरी औद्योगिक क्रांति में भी भारत गुलाम था। तीसरी औद्योगिक क्रांति में आजादी भले ही मिल गई थी लेकिन चुनौतियों से ही निपटने में संघर्ष कर रहा था। लेकिन अब 21वीं सदी का भारत बदल चुका है। मेरा मानता है कि चौथी औद्योगिक क्रांति में भारत का योगदान, पूरे विश्व को चौंकाने वाला होगा। पीएम मोदी ने कहा कि मुंबई में बना ये सेंटर देश में आर्थिक और सामाजिक बदलाव करेगा।

ये भी पढ़ें: तितली..तूफान और तबाही: अभी तक 8 लोगों की मौत, ढह गए सैकड़ों घर और दुकानें

सरकार ने इस दिशा में कई काम किए

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले चार साल में सरकार ने औद्योगिक क्रांति के लिए भारत को तैयार करने के लिए कई अहम पहल की । इस दिशा में आर्टीफीशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, ब्लॉक चेन, बिग डाटा और ऐसी तमाम नई तकनीकों में भारत के विकास को नई ऊंचाई पर ले गए। यहां तक कि लोगों के बेहतर जीवन स्तर बनाने के लिए भी सरकार ने काम किया है। उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्रांति के कारण सामाजिक विकास भी संभव हुआ है।

 

1 लाख से ज्यादा पंचायतें ऑप्टिकल फाइबर से जुड़े

पीएम ने कहा कि चार साल पहले देश की 59 पंचायतें ऑप्टिकल फाइबर से जुड़ी थीं। आज 1 लाख से ज्यादा पंचायतों तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंच चुका है। 2014 में देश में 83,000 कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) थे। लेकिन आज 3 लाख CSC काम कर रहे हैं। देश के ग्रामीण इलाकों में सरकार 32,000 से ज्यादा वाईफाई हॉटस्पॉट मुहैया कराने के दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। सरकार इस दिशा में निरंतर कार्य कर रही है।

Ad Block is Banned