Coronavirus: पीएम मोदी ने सभी राज्यपालों से कोरोना महामारी और टीकाकरण पर की बात

Coronavirus Cases In India: देश में कोरोना की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के राज्यपालों और केंद्र शासित प्रदेशों के उप राज्यपालों से कोरोना महामारी व टीकाकरण के संबंध में चर्चा को लेकर बैठक की। इस बैठक में उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी शामिल रहे।

नई दिल्ली। देश में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने चिंताएं बढ़ा दी है। ऐसे में तमाम राज्य सरकारों के साथ-साथ केंद्र सरकार हरकत में आ गई हैं और जरूरी एहतियाती कदम उठाने को लेकर फैसले ले रही हैं।

कई राज्यों में आंशिक लॉकडॉउन लगाया गया है तो कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। इसके अलावा भी तमाम तरह की पाबंदिया लगाई गई हैं। वहीं बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में सीबीएसई की 10वीं की परीक्षा को रद्द कर दिया गया तो 12वीं की परीक्षा को टाल दिया गया है।

यह भी पढ़ें :- CBSE Board Exams 2021: सीबीएसई की दसवीं की परीक्षा रद्द, बारहवीं की परीक्षा स्थगित

इसके अलावा देश में कोरोना की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के राज्यपालों और केंद्र शासित प्रदेशों के उप राज्यपालों से कोरोना महामारी व टीकाकरण के संबंध में चर्चा को लेकर बैठक की। डिजिटल माध्यम से हुई इस बैठक में उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी शामिल रहे। बैठक में पीएम मोदी ने कोरोना महामारी से निपटने व टीकाकरण अभियान को लेकर बातचीत की और सभी राज्यपालों को राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम करने की सलाह दी।

बैठक के दौरान हुई बातचीत के प्रमुख बिन्दु

- प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, पीएम ने सभी राज्यों के राज्यपालों और केंद्रशासित प्रदेशों के लेफ्टिनेंट गवर्नरों को सलाह दी है कि वे माइक्रो कंटेनमेंट के संबंध में राज्य सरकारों के साथ सामाजिक संस्थानों के मिलकर काम करने को लेकर सुनिश्चित किया जाए।

- पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार वैक्सीन की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है और टीका उत्सव के दौरान टीकाकरण अभियान विस्तृत हुआ और नए टीकाकरण केंद्र भी स्थापित किए गए हैं।

- पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लडा़ई में राज्यपाल जनभागीदारी के महत्वपूर्ण स्तंभ हैं। ऐसे में सभी सामुदायिक संगठनों, राजनीतिक दलों, गैर सरकारी संस्थाओं, सामाजिक संस्थाओं की संयुक्त शक्ति का उपयोग करने की बहुत जरूरत है।

यह भी पढ़ें :- Corona संकट के बीच पी चिदंबरम का PM Modi पर निशाना, बोले- वैक्सीन मैनेजमेंट की कमी छिपा रही सरकार

- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सभी राज्यपाल और उप राज्यपाल अपने-अपने प्रदेश में टीकाकरण और उपचार को लेकर संदेश फैलाने के साथ-साथ आयुष से जुड़े उपायों के बारे में भी जागरूकता फैला सकते हैं।

- उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ने के लिए नई ऊर्जा के साथ टेस्ट, निगरानी और उपचार की रणनीति लागू करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सभी राज्यपालों व उपराज्यपालों को अपने-अपने राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ राजनीतिक मतभेदों को दरकिनार कर एक साथ मिलकर काम करना चाहिए।

कोरोना से ये 10 राज्य सबसे अधिक प्रभावित

आपको बता दें कि कोरोना महामारी से देश के 10 राज्य सबसे अधिक प्रभावित हैं। देश में बुधवार को 1.85 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं, जो कि एक दिन दर्ज सबसे बड़ी संख्या हैं। इससे पहले मंगलवार (13 अप्रैल) को 1.61 लाख नए मामले दर्ज किए गए थे।

यह भी पढ़ें :- गुजरात में कोरोना के एक ही दिन में 7410 नए मरीज, 73 की मौत

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में सामने आए नए मामलों में से 80.8 प्रतिशत मामले सिर्फ 10 राज्यों में दर्ज किए गए हैं। जिनमें महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, दिल्ली, कर्नाटक, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान और केरल शामिल है। इन राज्यों में हर दिन भारी संख्या में कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 1 लाख 85 हजार 248 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 1025 लोगों की मौत भी हुई है। इसके साथ ही भारत में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1 करोड़ 38 लाख 70 हजार 731 हो गई है, वहीं मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख 72 हजार 114 तक पहुंच गया है।

PM Narendra Modi
Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned