वर्धा में आज से शुरू होगा रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन, रोज तैयार होगी 30 हजार शीशी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ऐलान किया है कि जेनटेक लाइफसांसेस महाराष्ट्र के वर्धा में रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन बुधवार 28 अप्रैल से शुरू कर देेगी। गडकरी ने कहा कि कंपनी हर रोज रेमडेसिविर की 30 हजार शीशी तैयार करेगी।

 

नई दिल्ली।

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के बढ़ते संक्रमण के बीच ऑक्सीजन, अस्पतालों में बेड और जरूरी दवाओं की कमी भी चिंता का सबब बनती जा रही है। हालांकि, केंद्र सरकार की ओर से इन कमियों को दूर करने के प्रयास भी शुरू हो गए हैं। पहले कुछ देशों से क्रायोजेनिक टैंकर मंगाए गए, जिससे ऑक्सीजन की आपूर्ति जारी रहे। इसके बाद अस्थायी रूप से कोविड अस्पताल खोले जा रहे और वहां बेड की कमी को पूरा किया जा रहा। अब रेमडेसिविर का उत्पादन बढ़ाने पर सरकार ने कदम बढ़ा लिए हैं।

यह भी पढ़ें:- देशभर में 18 वर्ष से अधिक उम्र के युवाओं को 1 मई से लगेगा कोरोना का टीका, रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया आज से शुरू

कोरोना संक्रमण के इलाज में कारगर मानी जा रही दवा रेमडेसिविर की कमी के कारण मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, कुछ लोगों ने इसकी कालाबाजारी भी शुरू कर दी थी। अब केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ऐलान किया है कि जेनटेक लाइफसांसेस महाराष्ट्र के वर्धा में रेमडेसिविर इंजेक्शन का उत्पादन बुधवार 28 अप्रैल से शुरू कर देेगी। गडकरी ने कहा कि कंपनी हर रोज रेमडेसिविर की 30 हजार शीशी तैयार करेगी। इससे देश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी नहीं होगी और बाजार में यह दवा लोगों को आसानी से उपलब्ध हो सकेगी।

यह भी पढ़ें:- कोरोनावायरस को हरा सकता है रायनोवायरस, क्या कह रहे विशेषज्ञ और कैसे करता है काम

बता दें कि देशभर के अस्पतालों में गंभीर स्थिति में भर्ती कोरोना संक्रमित मरीजों और लैब रिपोर्ट से पुष्टि किए गए वयस्क मरीजों तथा बच्चों में रेमडेसिविर के सीमित आपात उपयोग को मंजूरी दी गई है। वर्धा की जेनटेक लाइफ साइंसेज को रेमडेसिविर इंजेक्शन के विनिर्माण के लिए लाइसेंस दिया गया है। गडकरी ने बताया कि हैदराबाद की एक टीम महाराष्ट्र के वर्धा में पहुंच चुकी है और परीक्षण कर रही है। कंपनी बुधवार से उत्पादन शुरू करेगी। नितिन गडकरी के मुताबिक, वर्धा में बनाए जा रहे रेमडेसिविर इंजेक्शन का वितरण नागपुर और विदर्भ के अन्य जिलों में किया जाएगा। जरूरत के अनुसार इसे महाराष्ट्र के दूसरे जिलों में भी पहुंचाया जाएगा।

COVID-19 virus
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned