सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता, आधार का डाटा लीक हुआ तो बदल सकते हैं चुनाव परिणाम

सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता, आधार का डाटा लीक हुआ तो बदल सकते हैं चुनाव परिणाम

सुप्रीम कोर्ट की चिंता पर यूआईडीएआई की ओर से कहा गया कि आधार के तहत डाटा का संग्रह कोई परमाणु बम नहीं है।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने ‘आधार’ के तहत दर्ज जानकारी के सुरक्षित होने को लेकर आज एक गंभीर सवाल उठाया है। कोर्ट ने कहा देश में डाटा सुरक्षा को लेकर कोई सख्त कानून नहीं है। ऐसे में अगर आधार का डाटा लीक हो गया तो आगामी चुनाव के परिणाम को प्रभावित हो सकता है।

डाटा से बदल सकते हैं चुनाव परिणाम: सुप्रीम कोर्ट
आधार की अनिवार्यता को लेकर सुनवाई के दौरान मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने देश में डाटा सुरक्षा कानून न होने को लेकर सवाल उठाया। पीठ ने कहा कि जब देश में डाटा सुरक्षा कानून नहीं है तो ऐसे में यह कहना कि लोगों का डाटा सुरक्षित है, कहां तक उचित है।

ये भी पढ़ें: जब आसाराम ने नर्स से कहा, तुम तो खुद मक्खन जैसी हो, खाने में मक्खन क्यों लाई हो?

'क्या बच पाएगा लोकतंत्र'
न्यायालय ने सुनवाई के दौरान आधार डाटा के चुनाव में इस्तेमाल पर चिंता जताई। संविधान पीठ के एक सदस्य न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि ये वास्तविक आशंका है कि उपलब्ध आंकड़े किसी देश के चुनाव परिणाम को प्रभावित कर सकते हैं और यदि ऐसा होता है क्या लोकतंत्र बच पाएगा।

ये भी पढ़ें: न्यूयार्क टाइम्स ने लिखा, अल्पसंख्यकों, दलितों व महिलाओं के मुद्दों पर चुप रह जाते हैं मोदी

आधार डाटा कोई परमाणु बम नहीं:यूआईडीएआई
भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के वकील ने दलील दी कि प्रौद्योगिकी का विकास हो रहा है और भारत के पास तकनीकी विकास की अपनी सीमाएं हैं। इस पर न्यायमूर्ति चंद्रचूड ने कहा, ज्ञान की सीमाओं के कारण हम वास्तविकता के बारे में आंख मूंदे नहीं रह सकते हैं, क्योंकि हम कानून को लागू करने जा रहे हैं जो भविष्य को प्रभावित करेगा। यूआईडीएआई की ओर से कहा गया है कि आधार के तहत डाटा का संग्रह कोई परमाणु बम नहीं है। इस तरह का डर याचिकाकर्ताओं की तरफ से फैलाया हुआ डर मात्र है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned