मोहम्मद साद की अपील पर COVID-19 से ठीक हुए तबलीगी जमात के लोग कर रहे ब्लड डोनेट

  • आप विधायक अमानतुल्लाह खान ( Amanatullah Khan ) ने जारी किया वीडियो।
  • दिल्ली के क्वारेंटाइन सेंटर में खून दे रहे तबलीगी जमात ( Tablighi Jamaat ) के लोग।
  • मोहम्मद साद ( Mohammad Saad ) ने कुछ दिन पहले की थी लोगों से अपील।

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस ( coronavirus ) फैलने के साथ ही तबलीगी जमात ( Tablighi Jamaat ) के आयोजन के चलते काफी हो-हल्ला हुआ था। अभी तक तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना मोहम्मद साद कंधावली ( Mohammad Saad ) को पकड़ने के लिए पुलिस जुटी हुई है। इस बीच साद ने कोरोना वायरस से स्वस्थ हो चुके मुस्लिम और जमाती कार्यकर्ताओं से अपील की थी कि वो अपना ब्लड प्लाज्मा दान करें। अब बताया जा रहा है कि जमात के लोग अपना खून देने के लिए तैयार हो गए हैं।

तबलीगी जमात चीफ मोहम्मद साद का पहली बार इंटरव्यू में आंतकवाद और दिल्ली प्रशासन पर बड़ा खुलासा

मोहम्मद साद ने कुछ दिन पहले तबलीगी जमात के लोगों के लिए एक पत्र जारी कर किया था। इसमें उन्होंने कहा था कि तबलीगी जमात के जो लोग इस बीमारी से संक्रमित हैं और जिनका इलाज चल रहा है, उनके लिए कोरोना वायरस का इलाज करा चुके लोग, अपना खून प्लाज्मा के लिए दें।

इस संबंध में आम आदमी पार्टी विधायक अमानतुल्लाह खान ( Amanatullah Khan ) ने बड़ी जानकारी दी है। अमानतुल्लाह खान ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है। इस वीडियो के साथ उन्होंने लिखा है कि तबलीगी जमात के लोग मौलाना साद की दरख्वास्त पर दूसरे कोरोना के मरीजों के लिए अपना खून दे रहे हैं। इसकी वजह यह कि कोरोना के बाकी मरीज इनके खून से ठीक हो सकें। ये समाज के वो लोग हैं जो पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे लेकिन अब कोरोना निगेटिव हो गए हैं। ये लोग दिल्ली के क्वॉरेंटाइन सेंटर में मौजूद हैं।

अमानतुल्लाह द्वारा शेयर किए गए वीडियो में एक डॉक्टर तबलीगी जमात के लोगों को संदेश दे रहा है। वह डॉक्टर कहता है कि अगर आप खून देंगे तो इसके प्लाज्मा में आप दूसरे मरीजों को ठीक कर सकते हैं और उनकी जान बच सकती है।

इसके बाद डॉक्टर तबलीगी जमात के लोगों से पूछ भी रहा है, क्या आप अपना खून दान करेंगे? तब तबलीगी जमात के लोग एक साथ हां करके कह रहे हैं कि हां वे सभी तैयार हैं।

दिल्ली सीएम केजरीवाल ने दी बड़ी खुशखबरी, कोरोना के इलाज में सफल ट्रायल के बाद कहा- कोई साइड इफेक्ट नहीं

गौरतलब है कि बीते 21 अप्रैल को मौलाना साद ने एक पत्र जारी किया था। इस पत्र में साद ने लिखा था कि वह और उनके अन्य सदस्य इस वक्त सेल्फ क्वारेंटाइन में हैं और सभी की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है।

साद ने आगे लिखा कि ये सब वही लोग हैं जो इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। इन लोगों को सरकार और समाज के लोगों की मदद करनी चाहिए और आगे आकर अपना ब्लड डोनेट करना चाहिए।

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned