Unlock 2.0 की घोषणा 30 जून को संभव, इन जरूरी सेवाओं पर मुख्य फोकस

  • दूसरे चरण के अनलॉक ( Unlock 2.0 ) के दिशा-निर्देश अगले सप्ताह जारी होने की संभावना।
  • कोरोना वायरस लॉकडाउन ( coronavirus lockdown ) में ढील के पहले चरण के बाद केंद्र ( centre govt ) सरकार की जल्द घोषणा संभव।
  • अंतरराष्ट्रीय उड़ानों ( International Flights ), मेट्रो ( metro train service ), शिक्षण संस्थानों ( Educational institutions ), रोजगार पर ध्यान।

 

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू लॉकडाउन ( coronavirus lockdown ) के बाद बीते 1 जून से चरणबद्ध ढंग से Unlock की शुरुआत की गई। 30 जून को समाप्त हो रहे Unlock 1.0 के बाद अब सरकार ने अगले अनलॉक ( Unlock 2.0 ) की तैयारियां शुरू कर दी हैं। केंद्र सरकार ( centre govt ) के सूत्रों की मानें तो सरकार आगामी 30 जून को Unlock 2.0 के संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक अगले चरण के अनलॉक में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों ( International Flights ), शिक्षक संस्थानों और मेट्रो सेवाओं की शुरुआत पर सरकार का फोकस रहेगा।

देशभर में फिर से लागू होगा लॉकडाउन? अभी-अभी रेलवे ने 12 अगस्त तक सभी यात्री ट्रेनें कैंसल कीं

अनलॉक 2.0 को लेकर जारी प्रक्रिया से संबंधित एक केंद्रीय अधिकारी के मुताबिक जल्‍द ही इसको लेकर दिशा-निर्देश जारी किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि Unlock 2.0 की शुरुआत के साथ ही चुनिंदा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को निजी एयरलाइंस के लिए खोला जा सकता है। वहीं, मेट्रो सेवाओं ( metro train service )को फिर से चालू करने में अभी वक्त लग सकता है।

मेट्रो

सूत्रों के मुताबिक फिलहाल प्रमुख शहरों में कोरोना वायरस महामारी से संक्रमितों की बढ़ती तादाद के मद्देनजर केंद्र सरकार मेट्रो ट्रेनों को फिर से शुरू करने से पहले गंभीरता से विचार कर रही है। राजधानी दिल्‍ली में तो कोरोना केस बेहद तेजी से बढ़ते जा रहे हैं, जबकि मुंबई में अपेक्षाकृत स्थिति में थोड़ा सुधार देखने को मिला है।

Mumbai Life line Local And Metro : मुंबई की लाइफलाइन पर मंथन, बड़ा सवाल, पहले किसके लिए

हालांकि अब उप-नगरों में कोरोना वायरस अपने पैर तेजी से पसार रहा है। दक्षिण भारत में अब आलम यह है कि चेन्‍नई में तो कोरोना के बढ़ते मामलों को कंट्रोल करने के लिए दोबारा लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में नए केस सामने आने पर आंशिक लॉकडाउन लागू किया गया है। इन हालात को देखते हुए फिर से मेट्रो सेवाओं को शुरू करना थोड़ा डिले हो सकता है।

शिक्षण संस्थान

केंद्र सरकार देश भर में कोरोना वायरस के नए मामलों को रोजाना तेजी से बढ़ते देख शिक्षण संस्‍थानों फिलहाल खोले जाने से कदम पीछे खींच सकती है। केवल कर्नाटक के अलावा ज्यादातर प्रदेशों ने अपनी बोर्ड परीक्षा कैंसल कर दी हैं। सीबीएसई ( CBSE ) और आईसीएसई ( ICSE ) ने 10वीं और 12वीं कक्षा की बची हुई परीक्षा रद्द करने के बाद नतीजे जारी करने के लिए वैकल्पिक ग्रेडिंग योजना तैयार की है।

Mumbai में कोरोना के कहर के बाद अब सामने हैं दो बड़ी चुनौतियां

इससे पहले गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए गए Unlock 1.0 के दिशा-निर्देशों के मुताबिक स्कूल और कॉलेजों को खोलने ( Educational institutions ) का फैसला राज्‍यों के परामर्श से लिया जाना था। बीते 30 मई को जारी गाइडलाइन कहा गया था कि राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश सरकारें शिक्षण संस्थानों ( schools reopen date ) को खोलने पर अभिभावकों और अन्य हितधारकों के साथ संस्थागत स्तर पर सलाह-मशविरा कर सकती हैं। इस दौरान मिली प्रतिक्रिया के आधार पर आगामी जुलाई में शिक्षण संस्‍थानों को पुनः खोले जाने का फैसला किया जा सकता है।

कोरोना लॉकडाउन में कॉलेज के रेगुलर स्टूडेंट्स को प्रमोशन पर 93 हजार प्राइवेट छात्रों को देनी पड़ेगी परीक्षा

उड़ानें

सूत्रों की मानें तो केंद्र सरकार के भीतर चुनिंदा अंतरराष्ट्रीय मार्गों पर निजी एयरलाइंस को संचालित करने की परमिशन देने पर चर्चा जारी है। इसके पीछे की वजह के बारे में बताते हुए संबंधित अधिकारी ने कहा कि भारत सरकार के वंदे भारत मिशन पर अमरीकी प्रशासन आपत्ति जता चुका है। अमरीका कह रहा है कि इस मिशन के अंतर्गत एअर इंडिया तो अमरीका आ रहा है लेकिन वहां की एयरलाइन को अमरीका-भारत मार्ग पर उड़ान की स्वीकृति नहीं दी जा रही है। ऐससे में इस मिशन को अमरीका द्वारा रोके जाने की भी धमकी दी गई है। वहीं, संयुक्त अरब अमीरात ( UAE ) ने भी वंदे भारत मिशन पर इसी तरह का विरोध जताया है।

CBSE Exams Update: NEET 2020 और JEE 2020 जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं का क्या होगा?

रोजगार

Unlock 2.0 में श्रमिकों को रोजगार के ज्यादा मौके मिले, इसके लिए कुछ अन्‍य योजनाओं का भी ऐलान हो सकता है। सूत्रों की मानें तो उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल और ओडिशा जैसे राज्यों से केंद्र सरकार ने प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में जानकारी मांगी है। लॉकडाउन के दौरान अन्‍य राज्‍यों से इनमें भारी तादाद में प्रवासी श्रमिक लौटे थे।

अधिकारियों की मानें तो Unlock 2.0 में स्थानीय श्रम शक्ति के रोजगार को प्रोत्साहित करने के साथ ही कुटीर उद्योगों के विकास पर फोकस किया जाएगा। सरकार उद्योगों की आत्मनिर्भरता बढ़ाने पर भी ध्यान केंद्रित करेगी।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned