कलेक्टर हो तो क्या किसी को भी बेइज्जत कर दोगे...कहां से आ गई अपुन इच भगवान है वाली फीलिंग

वेस्ट त्रिपुरा के जिलाधिकारी शैलेश कुमार यादव का वीडियो इन दिनोंं सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है

नई दिल्ली। कलेक्टर साहब आप जनता के सेवक हैं तो फिर 'अपुन इच भगवान है', वाली फीलिंग कहां से घुस गई। कलेक्टर हो तो किसी को भी हड़का दोगे, किसी को भी थप्पड़ जड़ दोगे। आखिर ये अधिकार आपको किसने दिया? मैरिज होम में यूं घुसकर लोगों पर रोब गालिब करना। शादी में शामिल लोगों को लाठियां लगवाना...कहां की अफसरशाही है? क्या आपको याद नहीं कि ट्रेनिंग के समय आपको जन सेवा की शपथ दिलवाई गई थी? आपने अपने व्यवहार से अफसरशाही पर कलंक लगा दिया।

Coronavirus India Live Updates: सीरम ने घटाई कोविशील्ड की कीमत, अब राज्यों को 300 में मिलेगी कोरोना वैक्सीन

सोशल मीडिया पर वायरल

वेस्ट त्रिपुरा के जिलाधिकारी शैलेश कुमार यादव का वीडियो इन दिनोंं सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वह एक मैरिज होम पर छापा मारते नजर आ रहे हैं। जिसमें डीएम शैलेश यादव काफी गुस्से में दिखाई दे रहे हैं। डीएम हॉल में मौजूद पुलिसकर्मियों को भी फटकार लगा रहे हैं। डीएम के ऐसे व्यवहार को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स काफी गुस्से में हैं। सोशल मीडिया पर लोग सवाल पूछ रहे हैं कि माना नियमों की अनदेखी हुई हैै, लेकिन नियमों को मनवाने का यह कौन सा तरीका है? आप डीएम हैं तो क्या आपको जनता को बेइज्जत करने का अधिकार मिल गया है। कम से कम दूल्हा-दुल्हन और उसके परिवार वालों को तो बख्श दिया होता। आपने दूल्हे को गर्दन पकड़कर धकियाया और दुल्हन को स्टेज से उतार दिया।

कोरोना गाइडलाइन उल्लंघन मामले में अभिनेता जिम्मी शेरगिल व तीन अन्य गिरफ्तार, जमानत पर छोड़ा

और तो और आपने बच्चों और बुजुर्गों को भी नहीं बख्शा। बच्चे सहमे हुए थे और डर कर अपनी मां के आंचल में छिपे हुए थे। आपको बता दें कि डीएम शैलेश यादव ने ईस्ट अगरतला स्थित एक मैरिज होम पर छापा मारकर शादी को बीच में ही रुकवा दिया था। इस दौरान डीएम गुस्से में काफी उखड़े हुए नजर आ रहे थे। शादी में शामिल लोगों पर कोरोना वायरस के चलते लागू नाइट कफ्र्यू के उल्लघंन का आरोप था।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned