मध्य माली में अंतर्नस्लीय हमला, 9 सैनिकों समेत 40 की मौत

  • पिछले साल मार्च में ओगोसागो गांव ( Ogosago Village ) में हुए नस्लीय हमले में 160 लोगों की मौत हुई थी
  • यह ओगोसागो गांव फुलानी बाहुल्य ( phulaanee multiplicity ) लोगों का क्षेत्र है

बमाको। पश्चिमी अफ्रीकी देश माली ( West African Country Mali ) में एक अंतर्नस्लीय हिंसा ( Interstitial attack ) को अंजाम दिया गया, जिसमें 9 सैनिकों समेत 40 लोगों की मौत हो गई। अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि मध्य माली में इस बर्बर हिंसात्मक घटना को अंजाम दिया गया है, जिसमें ज्यादातर मौतें बेहद अशांत क्षेत्र में हुई है।

सरकार की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि ओगोसागो गांव ( Ogosago Village ) में रात के समय हुए हमले में 31 लोगों की मौत हुई है। बयान के मुताबिक, यह गांव फुलानी बाहुल्य ( phulaanee multiplicity ) लोगों का क्षेत्र है। पिछले साल मार्च में इसी गांव में हुए नस्लीय हमले में 160 लोगों की मौत हुई थी।

माली: सैंकड़ों जिहादियों ने सैन्य शिविर को बनाया निशाना, 19 की मौत

इस नरसंहार के लिए डोगोन मिलिशिया के लोगों को जिम्मेदार ठहराया गया था। गांव के प्रमुख अली उस्मान बरी ने जानकारी दी है कि करीब 30 बंदूकधारियों ने इस बर्बर हमले को अंजाम दिया है।

हमले में डोगोन शिकारी समूह का हाथ!

अली उस्मान बरी ने कहा कि हमले के दौरान हमलावरों ने झोपड़ियों एवं फसलों को आग लगा दी। साथ ही कुछ मविशियों को भी जला दिया गया या तो उसे अपने साथ ले गए। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही सरकार अपराधियों को ढूंढ निकालेगी।

इससे पहले स्थानीय सरकार के अधिकारी ने कहा था कि हमले के बाद से 28 लोग लापता हैं। इसके लिए उन्होंने डोगोन शिकारी समूह को जिम्मेदार ठहराया। हालांकि अभी तक इसकी स्पष्ट पुष्टि नहीं हो सकी है।

माली: गश्ती दल पर बड़ा आतंकी हमला, 24 जवानों की मौत, 17 आतंकी भी ढेर

बरी ने कहा कि इलाके से सैनिकों को वापस लेने के बाद हमलावर कई घंटे तक यहां घूमते रहे। इधर सेना ने कहा है कि शुक्रवार की रात मध्य गावो क्षेत्र में घात लगाकर किए गए हमले में माली के आठ सैनिकों की मौत हुई है, जबकि चार अन्य घायल हुए हैं। इसके अलावा मध्य माली के मोंडोरो में सेना के शिविर पर हुए हमले में एक अन्य सैनिक की भी मौत हुई है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned