Jamal Khashoggi Murder: UN को मिले 'विश्वसनीय सबूत', सऊदी क्राउन प्रिंस से जुड़े तार

Jamal Khashoggi Murder: UN को मिले 'विश्वसनीय सबूत', सऊदी क्राउन प्रिंस से जुड़े तार

Anil Kumar | Publish: Jun, 19 2019 06:05:18 PM (IST) | Updated: Jun, 20 2019 08:53:59 AM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • Jamal Khashoggi की हत्या को लेकर United Nation की जांच रिपोर्ट
  • Saudi Crown Prince मोहम्मद बिन सलमान के खिलाफ कई सबूत

रियाद। सऊदी अरब ( Saudi Arabia ) के पत्रकार और अमरीकी नागरिक जमाल खशोगी ( journalist Jamal Khashoggi ) की हत्या को लेकर अब एक बड़ा खुलासा हुआ है। इस बहु-चर्चित हत्याकांड को लेकर संयुक्त राष्ट्र ने सऊदी अरब के क्रॉउन प्रिंस (Saudi Crown Prince ) को जिम्मेदार ठहराया है।

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि जमाल खशोगी की हत्या के विश्वसनीय सबूत उनके पास है जो साफ-साफ दर्शाते हैं कि खशोगी की हत्या के पीछे सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ( Saudi Crown Prince mohammed bin salman ) का हाथ है।

संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों का कहना है कि इस हत्याकांड मामले की जांच के लिए संयुक्त राष्ट्र को अंतर्राष्ट्रीय जांच शुरू करनी चाहिए।

संयुक्त राष्ट्र ( united nation ) के स्पेशल रैपॉर्टेरिज्म एग्नेस कॉलमार्ड ने इस हत्याकांड मामले में बुधवार को अपनी जांच रिपोर्ट जारी की है।

टाइम मैगजीन ने जमाल खशोगी को 'पर्सन ऑफ द ईयर 2018' के लिए चुना

जांच रिपोर्ट में हत्या के विश्वसनीय सबूत

एग्नेस कॉलमार्ड ने अपनी जांच रिपोर्ट में खशोगी की हत्या के विश्वसनीय सबूत होने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि उच्च-स्तरीय सऊदी अधिकारियों ने 'पूर्व-निर्धारित' तरीके से हत्या को अंजाम दिया है।

कॉलमार्ड ने अपनी छह महीने की जांच के आधार पर जो रिपोर्ट तैयार की है उसमें कहा है कि खशोगी की जानबूझकर, पूर्व नियोजित और असाधारण तरीके से हत्या की गई है। इसके लिए सऊदी अरब अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कानून के तहत जिम्मेदार है।

जांच रिपोर्ट में जोर देकर कॉलमार्ड ने कहा है कि भले ही हत्या के दोषी को लेकर कोई निष्कर्ष नहीं है, लेकिन क्राउन प्रिंस पर प्रतिबंध लगना चाहिए।

पत्रकार जमाल खशोगी

जमाल खशोगी हत्या मामला: मरने से पहले दोस्त को किए थे 400 से ज्यादा वाट्सएप मैसेज

रियाद ने नहीं दी है अब तक कोई प्रतिक्रिया

संयुक्त राष्ट्र की ओर से जारी इस रिपोर्ट पर अभी तक सऊदी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। हालांकि सऊदी अरब हमेशा से जमाल खशोगी की हत्या में प्रिंस सलमान के शामिल होने से इनकार करता रहा है।

इस जांच रिपोर्ट को अब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के समक्ष 26 जून को पेश की जाएगी। इस परिषद में 47 सदस्य हैं जिनमें सऊदी अरब भी शामिल है।

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या को लेकर नया खुलासा, शरीर के टुकड़ों को ओवन में जलाया गया था

जमाल खशोगी की हत्या पीड़ादायक, दोषी बख्शे नहीं जाएंगे: सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान

जमाल खशोगी की हत्या में सऊदी प्रिंस का हाथ: CIA

CIA ने कहा था कि जमाल खशोगी की हत्या के पीछे सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का हाथ है। CIA ने यह भी कहा था कि खशोगी की हत्या के लिए सलमान ने ही आदेश दिया था और इसके पर्याप्त सबूत उनके पास है।

बता दें कि बीते साल अक्तूबर में इस्तांबुल स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास में जमाल खशोगी की हत्या कर दी गई थी। खशोगी की मंगेतर ने कहा है कि सऊदी ने उनसे अभी तक संपर्क नहीं किया है। खशोगी वाशिंगटन पोस्ट के लिए लेख व स्तंभ लिखते थे। अपने स्तंभ व लेख में वह खशोगी सऊदी प्रिंस व शासन व्यवस्था की आलोचना करते थे।

पत्रकार जमाल खशोगी

Iran-US Tension: क्या 80 के दशक जैसे 'टैंकर वार' की तरफ बढ़ रहे हैं अमरीका और ईरान

तुर्की ने भी सऊदी को ठहराया था जिम्मेदार

तुर्की ने भी खशोगी की हत्या के लिए सऊदी अरब को जिम्मेदार ठहराया था। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप एर्दोगन ( Recep Tayyip Erdogan ) ने जमाल खशोगी की हत्या को लेकर एक खुलासा किया था। उन्होंने कहा था कि खशोगी की हत्या मामले में उनके पास ऑडियो टेप है। इस टेप में एक हत्यारे ने कहा है, 'मुझे पता है कैसे काटना है।'

तुर्की ने यह ऑडियो अमरीका और यूरोपियन अधिकारियों के साथ साझा की थी। एर्दोगन ने रियाद की भी आलोचना करते हुए कहा था कि इस्तांबुल में सऊदी वाणिज्य दूतावास में खशोगी की हत्या कैसे हुई।

खशोगी अपनी मंगेतर से शादी करने वाले थे और इसी के लिए वह दस्तावेज लेने दूतावास गए थे।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned