न्यूजीलैंड ने भारतीय यात्रियों की एंट्री पर लगाई रोक, बताई ये बड़ी वजह

न्यूजीलैंड ने भारतीय यात्रियों की एंट्री को किया बैन, न्यूजीलैंड का कोई यात्री भी नहीं जाएगा भारत

नई दिल्ली। भारत में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) के खतरे ने पूरी दुनिया को सकते में डाल दिया है। इस बीच न्यूजीलैंड ( Newzealand ) से बड़ी खबर सामने आई है। न्यूजीलैंड ने भारत से आने वाले यात्रियों की एंट्री पर रोक लगा दी है।

गुरुवार को न्यूजीलैंड की पीएम जेसिंडा अर्डर्न ने इस अस्थायी रोक का ऐलान किया है। जेसिंडा अर्डर्न ने कहा कि 11 अप्रैल से भारत से आने वाले लोगों की एंट्री पर पाबंदी रहेगी।

यह भी पढ़ेँः PM Modi ने लगवाई वैक्सीन की दूसरी डोज, देश में कोरोना के नए मामलों ने फिर तोड़ा रिकॉर्ड

कोरोना केसों में तेजी से हो रहे इजाफे के चलते न्यूजीलैंड ने बड़ा फैसला लिया है। न्यूजीलैंड ने भारतीय यात्रियों की अपने देश में एंट्री पर रोक लगा दी है। यह प्रतिबंध 11 अप्रैल से प्रभावी होने जा रहा है और आगामी 28 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा।

न्यूजीलैंड के यात्री भी नहीं जाएंगे भारत
न्यूजीलैंड ने भारत से आने वाले यात्रियों पर तो रोक लगाई ही है, साथ ही अपने नागरिकों के भी भारत जाने पर फिलहाल पाबंदी लगा दी है।

इससे पहले भी न्यूजीलैंड कई अन्य देशों के यात्रियों की एंट्री पर रोक लगा चुका है। पहले भी न्यूजीलैंड ने भारतीयों की एंट्री पर रोक का फैसला लिया था, लेकिन फिर उस फैसले को वापस ले लिया गया था।

अब एक बार फिर से नई लहर के चलते यह फैसला लिया गया है। यह रोक 11 अप्रैल को शाम 4 बजे से 28 अप्रैल तक लागू रहेगी।

रिस्क मैनेजमेंट मजबूत करने पर जोर
इस दौरान सरकार यात्रा के दौरान रिस्क मैनेजमेंट को मजबूत करने के लिए काम करेगी। न्यूजीलैंड की ओर से यह अस्थायी बैन ऐसे समय में लगा रहा है, जब बीते कई दिनों से भारत में हर दिन 1 लाख से ज्यादा नए कोरोना केस मिल रहे हैं।

यह भी पढ़ेँः Corona संकट के बीच इन शहरों में आज से नाइट कर्फ्यू, दिल्ली में ई-पास के लिए खारिज हुए इतने हजार आवेदन

आपको बता दें कि भारत में लगातार कोरोना वायरस का खतरा बढ़ रहा है। कई राज्यों ने इससे निपटने के लिए नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन और धारा 144 जैसी कड़ी पाबंदियां लगा दी है। वहीं केंद्र सरकार भी लगातार जरूरी कदम उठाकर कोरोना को काबू करने में जुटी है।

दरअसल देश में रविवार से कोरोना के रोजाना केस 1 लाख से ज्यादा आ रहे हैं। बुधवार को भी देश में 1.26 लाख से ज्यादा नए केस दर्ज किए गए हैं, जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। रोजाना के मामलों में भारत ने अमरीका और ब्राजील को भी पीछे छोड़ दिया है।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned